Category "Sheikh Chilli"

18Apr2020

प्यारे बच्चों, गर्मियों में प्यास ज्यादा लगती है तो कुछ न कुछ ठंडा चाहिए होता है तो ऐसे में शेखचिल्ली और मल्लिका को अपनी प्यास बुझाने के लिए आइसक्रीम चाहिए होती है तो वो दूकान पर जाते हैं जहाँ उनको आइसक्रीम नही मिलती तब शेखचिल्ली के दिमाग में आयडिया आता है कि आम की आइसक्रीम बनाई जाए. वह नूरी जिन्न को कहता है आम लेकर आओ लेकिन नूरी जिन्न को भी आम नही नहीं मिलते. तब वहां एक आदमी आता है और तब शुरू होती है असली कहानी…आगे क्या हुआ जानने के लिए पढो ये कॉमिक

13Apr2020

प्यारे बच्चों आपको थोड़ी सी कहानी बता देते हैं, बुरी जादूगरनी के पेंटर से एक तस्वीर बनवाती है, जिसमे वो जादू डाल देती है कि जो अन्दर जायेगा वो वापस नहीं आएगा, वो ये तस्वीर लेकर आसमान में उड़ रही होती है तो गलती से उसकी जादुई जादू एक पेड़ से टकरा जाती है और तस्वीर नीचे गिर जाती है, जिसे लुटेरा चोर उठा लेता है और फिर शुरू होता है जादुई तस्वीर का झमेला जिसमें सब फंस जाते हैं…आगे क्या होता है जानने के लिए पढ़ें ये मजेदार कॉमिक.     

4Apr2020

प्यारे बच्चों आपको थोड़ी सी कहानी बता देते हैं, शेख चिल्ली के स्कूल में योगा सिखाने एक गुरु आते आते हैं, वहां बुलबुल को स्कूल में देखकर नाराज होते हैं और उसे बाहर भेजने की कहते हैं तब शेख चिल्ली उनसे प्रतियोगिता करता है और उन्हें हरा देता है, तब वो योगा गुरु अपने से बड़े गुरु से मिलता है तब शुरू होता है हंगामा और आगे क्या होता है जानने के लिए पढ़िए ये शेख चिल्ली की कॉमिक्स.

27Mar2020

प्यारे बच्चों आपको थोड़ी सी कहानी बता देते हैं, शेख चिल्ली और उसके सभी साथी एक बार खेलने के लिए पिकनिक जाते हैं और वहां धोखे से एक शिकारी बुलबुल गधे को अपने जाल में कैद कर लेता है, तब शेख चिल्ली और मल्लिका मिलकर शिकारी को सबक सिखाने के लिए कुछ ऐसा कमाल करते हैं जिससे शिकारी को उसकी सजा मिल जाती है और बुलबुल गधा वापस उन्हें मिल जाता है, तो चलिए दोस्तों देर ना करते हुए जल्दी से पढ़ते हैं ये शेख चिल्ली की कॉमिक्स.

24Mar2020

प्यारे बच्चों आपको थोड़ी सी कहानी बता देते हैं, शेख चिल्ली पजल बना रहा होता है, तभी एक बॉल आकर उसकी पजल बिगाड़ देती है, जब वो देखता है कि वो बॉल किसने फैंकी है तो वो हैरान हो जाता है, बॉल फैंकने वाला कोई और नहीं बल्कि सेम तो सेम उसकी शक्ल का शेख चिली ही है, वही दूसरी तरफ नूरी जिन्न और उसके साथी शेख चिल्ली को खोज रहे होते हैं. और जब वो डुप्लीकेट का राज खुलता है सब सब हो जाते हैं हैरान, तो चलिए दोस्तों देर ना करते हुए जल्दी से पढ़ते हैं ये शेख चिल्ली की कॉमिक्स.

11Mar2020

प्यारे बच्चों, मल्लिका के पिता है अब्बू, इन्हें अपने संग्रहालय में बेश कीमती पुरानी चीज़ों को रखने का बहुत शौक है, ऐसे ये अमेरिका कुछ सामान मंगवाते हैं, जिसमें निकलता है एक रोबोट, उन्हें खुद पता नही होता कि ये रोबोट कहाँ से आया ? बाद  वो रोबोट मल्लिका और उसके पिता को बंदी बना लेता है तब शेख चिल्ली उस रोबोट को के चैलेंज देता है कि तुम अगर बुलबुल को नहला दो तो मैं हार मान लूँगा, अगर नहीं नहला पायें तो मैं हार मान लूँगा. अब आगे क्या हुआ?  इसके लिए आपको ये शेख चिल्ली और रोबोट की कॉमिक्स को पढ़ना होगा.  

25Feb2020

प्यारे बच्चो, क्या आपको करेला पसंद है? नहीं ना, शायद ही किसी बच्चे को पसंद होगा करेला, हमारी आज की कहानी का सम्बन्ध करेले से जरूर है, होता है क्या एक किसान के खेत में लुटेरा “बिजुका” बन जाता है, क्या आप जानते हैं कि बिजुका क्या होता है. चलिए हम बताते हैं

12Feb2020

बच्चों, शेख चिल्ली की की क्लास में एक शरारती लड़का है गामा, जो कुछ न कुछ शेख चिल्ली के लिए प्लान बनाता रहता है, ताकि वो उसे परेशान कर सके, इसलिए इस बार उसने चुइंगम से शेख चिल्ली को परेशान करने की सोची. वो चुइंगम फैंक तो दे देता है, उसमे शेख चिल्ली तो नहीं फंसता लेकिन मल्लिका के पिता जी फंस जाती है. फिर खड़ा होता है नया बखेड़ा उस बखेड़े में कौन कौन फंसता है जानने के लिए पढ़िए ये कॉमिक….

3Feb2020

प्यारे बच्चों, झुनझुन नगरिया में टुनटुन नगर के सेठ हीरामल की बेटी बुलबुली आती है, और बुलबुल गधा उससे दोस्ती करना चाहता है. शेख चिल्ली और उसके साथी उसे भरोसा दिलाते हैं कि वो उसकी दोस्ती बुलबुली से कराएँगे, लेकिन लुटेरा सेठ हीरामल की तिजोरी लूट कर ले जाता है. फिर क्या हुआ, क्या बुलबुल और बुलबुली की दोस्ती हो पाती है , जानने के लिए आपको नीचे दी गई कॉमिक “बुलबुल की दोस्ती ” को पढ़ना होगा.

27Jan2020

प्यारे बच्चों, शेख चिल्ली के स्कूल में एक दिन हिस्ट्री की पढ़ाई हो रही थी, तब उसे लगा कि उसका नाम भी हिस्ट्री में होना चाहिए बस, फिर क्या था, शेख चिल्ली, नूरी जिन्न की मदद से एक राकेट बनाते हैं, उसके बाद उनके साथ क्या क्या होता है ये जानने के लिए पढ़िए ये मजेदार कॉमिक्स “शेख चिल्ली की खोज”.