Category "Moral Stories"

28Dec2021

शिक्षा देती एक सुन्दर कहानी : माली का सबक:- एक फलों का बगीचा था। उस बगीचे में एक पुराना आम का पेड़ था जिसमें एक तोता अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ रहता था। बाग के माली को इनसे प्यार हो गया था

27Dec2021

बाल कहानी : कोशिश करने वालों की हार नहीं होती  :- एक बादाम के पेड़ पर दो गिलहरियाँ रहती थी। दोनों की पक्की दोस्ती थी। उनमें से एक गिलहरी बड़ी चुस्त और दूसरी आलसी थी। एक दिन दोनों गांव की सैर करने सुबह सवेरे निकल पड़े।

15Dec2021

जंगल की कहानी (Jungle Story): गिलहरी की सीख :- चंदन वन में मैना रहती थी। वह बहुत ही मेहनती थी। छोटे से जमीन के टुकड़े पर वह गेहंू उगाती और फिर पूरे सारा साल आराम से खाती। उसे आराम से गेहूं खाते देख उसका पड़ोसी कौआ रात-दिन दुखी होता।

4Dec2021

महाकवि कालिदास : हमें कैैसा बनना चाहिए? : कहानी राजा भोज के काल की है। उनके दरबार में एक से एक विद्वान दरबारी के रूप में आदर पाते थे। महाकवि कालिदास जैसे विद्वान और कुशल कवि उनके दरबार की शोभा बढ़ाते थे। एक बार की बात है। राजा भोज ने अपने विद्वान दरबारियों से एक प्रश्न किया। प्रश्न था हमें कैसा बनना चाहिए?

11Nov2021

लोटपोट की शिक्षाप्रद कहानी : दिव्यस्वप्न :- विजय अपनी कक्षा में हमेशा प्रथम आता था। इसी कारण सब उसकी प्रशंसा करते थे परन्तु पिछले दस 15 दिन से वह बहुत गुमसुम तथा कहीं खोया हुआ सा रहता था। पढ़ाई में भी उसका मन नहीं लगता था। अक्सर पढ़ते-पढ़ते वह सोचने लगता था। उसकी इस बार का परिणाम परीक्षा में कम नम्बर के रूप में सामने आया तो वह सन्न रह गया।

8Nov2021

अच्छी कहानी  : एक बार की बात है कि एक चिड़िया की एक कौए से दोस्ती हो गई। एक दिन वह दोनों खाने की तलाश में थे। कौए ने देखा कि, चटाई पर कुछ मिर्चे सूखने के लिए फैलाई हुई है। कौए ने चिड़िया से कहा- वह देख, वह सामने मिर्च हैं। आओ देखें, कौन ज्यादा खा सकता है?

3Nov2021

Jungle Story : एक था चिड़ा और एक चिड़ी। दोनों ही विनम्र और मृदु। दोनों ही चहकते रहते। दूसरों की दुख तकलीफ में मद्दगार होते। इसीलिए तो टुइया जंगल के सभी पक्षी उन्हें चाहते बहुत थे।

27Oct2021

राजा वीरभद्र सिंह के दरबार में एक दरबारी था चन्द्रपाल। वह बहुत ही मक्कार था। उसने राजा पर इस बात का सिक्का जमा रखा था कि वह तलवारों का कुशल पारखी है। उनके गुण दोषों में भेद करना जानता है। चन्द्रपाल के इसी गुण से प्रभावित होकर राजा ने उसे अपने दरबार में नौकरी दी थी।

27Sep2021

डरपोक बकरी को मिला सबक –  एक नदी के किनारे एक घना जंगल था जहां कई जानवर रहते थे। एक बार उस नदी में बाढ़ आ गई। पूरा जंगल पानी में डूब गया। सारे पंछी पेड़ की डालियों पर बैठ गए। हाथी, घोड़े जैसे बड़े जानवरों को कोई खास तकलीफ नहीं थी लेकिन जंगल के छोटे जानवरों का बुरा हाल था।

20Sep2021

Detective children’s story: इस्पेक्टर हंसराज जैसे ही पुलिस स्टेशन पर पहुँचे तो उन्हें फोन आया कि जौहरी बाजार में सेठ हीरालाल की हत्या हो गई।

सूचना मिलते ही पुलिस इंस्पेक्टर अपने दलबल के साथ वारदात वाले स्थान पर पहुँच गए। किन्तु हत्यारों ने इतनी सफाई और चालाकी के साथ सेठजी की हत्या की कि उन्होंने वहाँ अपना कोई सुराग नहीं छोड़ा। अपने साथ वे लाखों रूपयों के हीरे जवाहरात भी ले गए।