पुरे विश्व में भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र दामोदर मोदी की जयजयकार

विश्व के सबसे मजबूत लोकतांत्रिक देश भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 6 दिवसीय विदेश दौरे ने दुनिया भर के लोगों का ध्यान आकर्षित किया है और उनके करिश्माई नेतृत्व तथा कौशल ने दुनिया भर के उनके प्रशंसकों को मंत्रमुग्ध कर दिया है।

By Lotpot Kids
New Update
The Prime Minister of India Shri Narendra Damodar Modi is hailed all over the world

विश्व के सबसे मजबूत लोकतांत्रिक देश भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 6 दिवसीय विदेश दौरे ने दुनिया भर के लोगों का ध्यान आकर्षित किया है और उनके करिश्माई नेतृत्व तथा कौशल ने दुनिया भर के उनके प्रशंसकों को मंत्रमुग्ध कर दिया है। वे भारत हिरोशिमा में सात शिखर सम्मेलन (जी-7) के समूह में आठ आमंत्रितों में शामिल रहे, जहां भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का इतना शानदार स्वागत किया गया कि दुनिया देखती रह गई। प्रधानमंत्री मोदी लगातार चौथी बार G-7 में आमंत्रित और शामिल हुए। आज पूरा विश्व भारत की बढ़ती शक्ति और ऊंचा कद का लोहा मान गए हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति, जो बाईडन और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने जिस तरह श्री मोदी को गले लगा लिया और जिस तरह से पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री जेम्स मरापे ने मोदी जी के पैर छुए इससे पूरी दुनिया, भारत की शक्ति और बढ़ते कद के सम्मान में नतमस्तक हो गए। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाईडन ने तो G-7 मीटिंग से पहले ही मोदी जी का ऑटोग्राफ भी मांग लिया। पापुआ न्यू गिनी में आजतक कभी भी किसी दूसरे देश के नेता का स्वागत सूरज ढलने के बाद नहीं किया गया लेकिन मोदी जी के लिए यह प्रोटोकॉल तोड़ा गया।

उधर ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीस ने भी मोदी जी की अपार लोकप्रियता की चर्चा करते हुए कहा कि सिडनी में कम्यूनिटी रिसेप्शन हॉल में 20000 लोगों की क्षमता है लेकिन देश दुनिया के लोग अपने जुनून और जोश के साथ मोदी जी की एक झलक देखने की होड़ में, कैपासिटी से ज्यादा उमड़ पड़े। आज तक प्रधानमंत्री मोदी को कई देशों ने अपने देश के सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित किया है और यह सिलसिला जारी है। प्रधानमंत्री मोदी को पापुआ न्यू गिनी और फिज़ी ने अपने सर्वोच्च सम्मान प्रदान किया। पापुआ न्यू गिनी ने उन्हे 'द ग्रैंड कॉमपैंनियन ऑफ द ऑर्डर ऑफ लोगोहु' से सम्मानित किया और फिज़ी ने उन्हे अपने देश के सम्मान 'कॉमपैंनियन ऑफ द ऑर्डर ऑफ फिज़ी' से सम्मानित किया।

श्री नरेंद्र मोदी ने इस सम्मेलन में परमाणु निरस्त्रीकरण, आर्थिक विस्तार और सुरक्षा, क्षेत्रीय चिंताएं, जलवायु और ऊर्जा, भोजन, वैश्विक उर्वरक आपूर्ति श्रृंखला, स्वास्थ्य, व्यापार, अर्थव्यवस्था, हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग, शिक्षा, कौशल विकास, पर्यटन विकास, G-7 और जी-20 प्रेसीडेंसी के प्रयासों के तालमेल के तरीकों और इसकी आवश्यकता जैसे मुख्य मुद्दों पर अपनी बात और राय रखी। प्रधानमंत्री मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज़ के साथ व्यापार, रक्षा, तकनीक जैसे कई मुद्दों पर चर्चा की।

शोहरत के मामले में 22 देशों के सुपर पावर नेताओं को नरेंद्र मोदी ने बहुत पीछे छोड़ दिया। हाल के सर्वेकेशण में भारत के प्रधानमंत्री को दुनिया के बालिग आबादी में 78 प्रतिशत अप्रूवल रेटिंग मिली है यानी दुनिया के 78 प्रतिशत लोग उन्हे पसंद करते हैं और अब विश्वशांति और कई एजेंडे के साथ, मोदी का दौरा अंतरराष्ट्रीय हित का केंद्र बिंदु बन गया है, जो दुनिया भर में सुर्खियां बटोर रही है जिसके कारण मोदी जी की चर्चा तथा ख्याति की गूँज पूरे विश्व में डंका बजा रहा है।

प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के विशाल व्यक्तित्व, बुद्धि, बल और कूटनीति की विशेषताओं के साथ साथ उनकी महिमा का प्रभाव कुछ ऐसा है कि वे जहां भी जाते हैं, उनमें आत्मविश्वास, ऊर्जा शक्ति और उद्देश्य की भावना झिलमिलाती हुई झलकती है जो विभिन्न संस्कृतियों और पृष्ठभूमि के लोगों के बीच दूर दूर तक गूंजती है।

अपने विदेश दौरे के दौरान, अक्सर प्रधान मंत्री श्री मोदी अन्य देशों के साथ मजबूत संबंध बनाने के महत्व पर बल देते हैं। । ग्लोबल सपोर्ट के प्रति मोदी जी की प्रतिबद्धता ने विश्व मंच पर उनकी स्थिति को और मजबूत किया है। इन दौरों में जलवायु परिवर्तन, लगातर विकास और क्षेत्रीय सुरक्षा उनके एजेंडे के प्रमुख विषयों में से एक होने के साथ ही पर्यावरण के मुद्दों पर मोदी के पॉज़िटिव रवैये और लीडरशिप ने उन्हें विश्व के सभी नेताओं और नागरिकों से प्रशंसा और सम्मान दिलाया है।

दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक के रूप में, भारत अब आगे है और प्रधान मंत्री मोदी के दौरे ने देश विदेश में उनके इस क्षमता की भूरि भूरि प्रशंसा की है।
भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने, G-7 शिखर सम्मेलन में निस्संदेह दुनिया का ध्यान आकर्षित किया और उन्होंने सफलतापूर्वक भारत को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर सुर्खियों में ला दिया है।

★सुलेना मजुमदार अरोरा ★