बच्चों की मजेदार बाल कहानी : जाॅनी और परी

बच्चों की मजेदार बाल कहानी (Child Story) : जाॅनी और परी छोटा जाॅनी :- बहुत अकेला था। अंधेरा हो गया था। मम्मी और पापा अभी तक घर पर आए नहीं थे। वह दोनों ऑफिस  में किसी ज़रूरी काम की वजह से रुक गए थे और उन्हें घर पहुंचने में देरी हो गई थी। उनकी नौकरानी दीदी जल्दी सो गई थी। जाॅनी के पास कुछ करने को नहीं था, उदास जाॅनी अपने घर की बालकानी में गया। वहां वह कोने में जाकर बैठ गया और उसने अपने माता पिता का इंतज़ार करने का फैसला किया। उसने आसमान में देखा। वह एक साफ रात थी। चंदा मामा पूरे गोल आकार में चमक रहा था। आसमान में तारे टिमटिमा रहे थे। जाॅनी की आंखे दोबारा चंदा मामा पर टिक गई। उसने सोचा कि चंदा मामा के बीच में कुछ चल रहा है और तभी अचानक आसमान चमकने लगा और सफेद हो गया। तभी चंदा मामा में से एक सुंदर परी निकलकर बाहर आई।

Children's Funny Child Story: Janey and the Fairy

उस परी ने सफेद रंग का गाउन पहना हुआ था और सिर पर उसने चमचमाता हुआ मुकुट पहना था। उसके मुकुट के एक कोने पर चमकता हुआ सितारा था। उसने अपने दाएं हाथ में एक जादू की छड़ी पकड़ी हुई थी। सफेद परी सीधा जाॅन की बालकानी में आई। उसने फिर जाॅनी से पूछा, ‘छोटे बच्चे, तुम्हारा नाम क्या है?’ इस पूरे वाक्य से हैरान जाॅनी हकलाने लगा और हकलाते हुए उसने अपना नाम परी को बताया। उसे पता नहीं था कि परी को उसका नाम समझ आया या नहीं। परी ने जवाब दिया, ‘मेरा नाम एंजेला है। मैं एक परी हूं और मैं स्वर्ग में रहती हूं। मुझे पता है तुम उदास और अकेले हो, इसलिए मैं तुमसे मिलने आई हूं।’

और पढ़ें :

Child Story : खलीफा की भूल सुधार

छोटा जाॅन हैरान हो गया। उसने सोचा कि कैसे परी को पता है कि वह उदास है और अपने माता पिता के बारे में सोच रहा है। लेकिन इससे पहले की वह परी से कुछ पूछ पाता, एंजेला ने कहा, ‘मैं तुम्हारे लिए एक नर्सरी की कविता गाती हूं।’

जाॅनी जाॅनी, येस पापा,

ईटिंग शुगर, नो पापा

टेलिंग लाइज़, नो पापा

ओपन याॅर माउथ ‘हा हा हा’।

तब एंजेला ने पूछा, ‘तो जाॅनी, तुम्हारी पसंदीदा कविता कौन सी है?’ अब तक छोटा जाॅनी अपनी नई दोस्त के साथ काफी सहज हो चुका था। उसने जवाब दिया, ‘ट्विंकल ट्विंकल लिटल स्टार’ और यह पूरी कविता उसने परी के लिए गाई।

और पढ़ें : Child Story  : चालाक शेरनी का कारनामा

परी ने तब कुछ चाॅकलेट जाॅनी को दी। जाॅनी डर गया। उसने एंजेला को बताया कि अगर उसने चाॅकलेट खाई तो उसकी मम्मी उसे बहुत डांटेगी। मम्मी ने कहा है, ‘चाॅकलेट से मेरे दांत खराब हो जाएंगे।’ एंजेला ने जवाब दिया, ‘वह सही कह रही है। जब आप चाॅकलेट खाओ तो आप अपने दांतों को ब्रश करें। इससे आपके दांतों से सभी किटाणु हट जाएंगे।’ परी की बात सुनकर जाॅनी ने उससे चाॅकलेट ले ली। वह दो विचारों से जूझ रहा था कि वह चाॅकलेट को खाए या ना खाए। तभी उसने अपने माता पिता को घर में आते हुए देखा।

वह चिल्लाया, ‘देखो, एंजेला, मेरे माता पिता आ गए है। तुम इंतज़ार करो और उनसे ज़रूर मिलना। वह हैरान हो जाएंगे।’ जाॅनी उत्सुक होकर बोला। एंजेला बोली, ‘नहीं। मुझे अब जाना चाहिए। मेरी तरफ से तुम जैसे प्यारे और छोटे बच्चे के लिए एक खास तोहफा। जब तुम अकेले और उदास हो, तो तुम उसे पढ़ लेना।’ यह कहकर परी ने जाॅनी को तोहफा दिया।

Children's Funny Child Story: Janey and the Fairy

एंजेला के जाने से जाॅनी उदास हो रहा था। जाॅनी ने पूछा, ‘तुम वापिस क्यों जाना चाहती हो? हम अभी तो दोस्त बने है?’

सफेद परी जाॅनी के पास बैठी। उसने जाॅनी को बताया, ‘सुनो जाॅनी, अब तुम्हारे माता पिता आ गए है। अब तुम अकेले नहीं रहोगे। अब मैं जाऊंगी और किसी दूसरे बच्चे की दोस्त बनूंगी जो इस समय उदास और अकेला होगा।’ एंजेला ने तब जाॅनी को बाॅय किया और वहां से गायब हो गई। वह रात के अंधेरे में खो गई।

दरवाज़े की घंटी बजी और जाॅनी दौड़ते हुए दरवाज़ा खोलने गया और उसने अपने माता पिता को अपने साथ कुछ देर पहले हुई घटना के बारे में बताया। परी द्वारा उसे दिया गया तोहफा अभी भी उसके हाथ में था।

देर रात अपनी नई दोस्त द्वारा दिए गए तोहफे को जाॅनी ने खोला। वह एक छोटी किताब थी जिसमें जानवरों के बारे में कहानियां थी। उसने उसे धीरे धीरे पढ़ना शुरू किया और पढ़ते पढ़ते वह परी के ख्यालों के साथ सो गया।

और पढ़ें : शिक्षाप्रद बाल कहानी : मूर्खता की सजा

Facebook Page