रोचक जानकारी : भारतीय विमानों में VT क्यों लिखा होता है?

रोचक जानकारी : जब भी हम भारतीय विमानों में यात्रा करते हैं तो हम देखते हैं कि प्रत्येक विमान (चाहे वह एविएशन कम्पनी का हो, निजी एयरक्राफ्ट हो या सरकारी हो) के बॉडी और पंखों पर अँग्रेजी के दो अक्षर वीटी (VT) अंकित होता है। आखिर क्या है यह VT? कुछ लोगों का दावा है कि VT का मतलब होता है वॉइसराय टेरेटरी। यानी वॉइसराय का क्षेत्र, जो भारत पर ब्रिटिश राज का एक निशान है, लेकिन सेंटर ने साफ किया है कि VT का मतलब वॉइसराय टेरेटरी नहीं है।

दरअसल अंतराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (ICAO) के कायदे के अनुसार, देश में हर एक हवाई जहाज का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होता है जिसके तहत उसे एक रजिस्ट्रेशन नंबर आबंटित किया जाता है, जिसमें उस देश के कोड के रूप में दो अक्षर, के साथ उसके मालिक या कॅरियर की पहचान से जुड़े तीन अंक होते हैं।

भारत को यह VT कोड, अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन या इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट असोसिएशन द्वारा 1929 में दिया गया था। उस समय भारत पर अंग्रेजों का राज था। ऐसे में वीए (VA) से वीजेड (VZ) की श्रंखला, ब्रिटिश राज के अधीन देशों में रजिस्टर्ड हवाई जहाजों के लिए तय की गई थी। अब भारतीय हवाई जहाजों पर अंग्रेजों की गुलामी के इस प्रतीक ‘VT’ को जल्दी से जल्दी बदलने की मांग हो रही है।

लेकिन यह भी कहा जा रहा है कि दरअसल VT कोड इंडिया को इंटरनेशनल रेडियो टेलीग्राफ कनवेंशन ऑफ वाशिंग्टन के दौरान 1927 को दिया गया था। खैर जो भी हो, सरकार प्रयास कर रही है VT के स्थान पर इंडिया के नाम से IN (आईएन) या भारत के लिए BH (बी एच) या हिन्दुस्तान के नाम से HI (एच आई) कोड हासिल किया जाए।

लेकिन इनमें से कोई भी कोड उपलब्ध नहीं है। वैसे हवाई जहाज के बॉडी और पंख में से VT हटाकर भारतीय कोड डालने की प्रक्रिया में भारतीय एयरलाइन्स को बहुत ज्यादा आर्थिक बोझ पड़ सकता है ।

इसके लिए सभी विमानों के नए रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ फिर से रंग रोगन करना होगा और जब तक नए रजिस्ट्रेशन कोड से जुड़े सभी दस्तावेज, नए तौर पर जारी ना हो जाए और जब तक नए कोड चिन्ह ना अंकित हो जाए तब तक कोई भी विमान उड़ नही पाएगा। उम्मीद है कि जल्द ही भारतीय विमानों को नया कोड मिल जाएगा।

– सुलेना मजुमदार अरोरा