Travel: देवताओं की भूमि उत्तराखंड

उत्तराखंड, उत्तर भारत में स्थित एक बहुत ही खूबसूरत और शांत पर्यटन केंद्र है। ये जगह देश की उन चुनिन्दा जगहों में शुमार है जो अपनी सुन्दरता के चलते दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं।

By Lotpot Kids
New Update
Uttarakhand

देवताओं की भूमि उत्तराखंड

Travel देवताओं की भूमि उत्तराखंड:- उत्तराखंड, उत्तर भारत में स्थित एक बहुत ही खूबसूरत और शांत पर्यटन केंद्र है। ये जगह देश की उन चुनिन्दा जगहों में शुमार है जो अपनी सुन्दरता के चलते दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। देवताओं की भूमि के रूप में जाना जाने वाला उत्तराखंड अपने शांत वातावरण, मनमोहक दृश्यों और खूबसूरती के कारण पृथ्वी का स्वर्ग माना जाता है। (Travel)

Uttarakhand

इस खूबसूरत राज्य के उत्तर में जहाँ तिब्बत है वहीँ इसके पूरब में नेपाल देश है। जबकि इसके दक्षिण में उत्तर प्रदेश और उत्तर पश्चिम में हिमाचल प्रदेश है। इस राज्य का मूल नाम उत्तरांचल था जिसे बदलकर जनवरी 2007 में उत्तराखंड कर दिया गया था। राज्य में कुल 13 जिलें हैं जिन्हें प्रमुख डिवीजनों, कुमाऊं और गढ़वाल के आधार पर बांटा गया है। (Travel)

उत्तराखंड राज्य तीन प्रमुख मौसमों का अनुभव करता है जिनमें गर्मी, मानसून और सर्दी शामिल हैं...

उत्तराखंड राज्य तीन प्रमुख मौसमों का अनुभव करता है जिनमें गर्मी, मानसून और सर्दी शामिल हैं। यहाँ की जलवायु बहुत हद तक यहाँ की भौगोलिक परिस्थितियों पर भी निर्भर करती है। यहाँ जहाँ एक तरफ विशाल पहाड़ियां हैं वहीँ दूसरी तरफ छोटे प्लेन भी हैं, उत्तराखंड की यात्रा का सबसे अच्छा समय गर्मियों का मौसम है इस समय यहाँ का मौसम बहुत ही अच्छा रहता है। उत्तराखंड आने वाले पर्यटक अपनी यात्रा को सर्दियों में भी प्लान कर सकते हैं। हालांकि भीषण बर्फबारी के चलते कुछ स्थानों पर आने वाले पर्यटक नहीं जा सकते हैं फिर भी अगर आप चाहें तो इस मौसम में भी उत्तराखंड की यात्रा की जा सकती है। (Travel)

Uttarakhand

उत्तराखंड की आधिकारिक भाषा हिन्दी है, लेकिन यहाँ विभिन्न क्षेत्रों में अलग अलग बोलियाँ बोली जाती हैं। कुमाऊंनी और गढ़वाली यहाँ ज्यादातर बोली जाती है। इसके अलावा, पहाड़ी बोली भी कुछ क्षेत्रों में लोकप्रिय है। कुमाऊं व्यापक श्रेणी के तहत, लोकप्रिय उप बोलियाँ हैं - जोहरी, दानपुरिया, अस्कोटी, सिराली, गंगोला, खास्पर्जिया, फल्दाकोती, पच्चायी, रौचैभैसी, माझ कुमैया, सोरयाली, चैघरख्याली और कुमैया। गढ़वाली बोली की उप श्रेणियों में, सैलानी और मर्ची शामिल हैं। यहाँ की प्रमुख बोलियां संस्कृत, केंद्रीय पहाड़ी, और सौरसेनी प्राकृत से प्रभावित हैं और ये भाषाएँ देवनागरी लिपि में लिखी जाती हैं। (Travel)

उत्तराखंड के 13 खूबसूरत जिलों में अनेक पर्यटक स्थल हैं नए स्थलों की खोज के साथ यहाँ की सूची बढती ही जा रही है। पूजा से ट्रैकिंग तक, हर स्थल अपने में अलग अहमियत रखता है। यहाँ अनेक तीर्थस्थल मौजूद हैं और यहाँ की खूबसूरत वादियाँ यात्रियों के लिए रोमांचक गतिविधियों की एक विशाल रेंज प्रदान करती है। (Travel)

Nina Devi temple Nainitaal

उत्तराखंड का झीलों के जिले के रूप में जाना जानेवाला, नैनीताल एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है जो की समुद्र तल से 1938 मीटर की ऊंचाई पर बसा है। स्वर्ग का यह टुकड़ा अंग्रेजों द्वारा वर्ष 1841 में खोजा गया था और एक हॉलिडे रिसोर्ट में बदल दिया गया। शब्द ‘नैनीञ हिंदू देवी नैनी के नाम से पड़ा, जिनका मंदिर झील के किनारे स्थित है। यहाँ बाइकिंग, पैराग्लाइडिंग और कैम्पिंग का भी आनंद लिया जा सकता है। (Travel)

lotpot-e-comics | travel-destinations-india | travel-places-in-india | uttarakhand-tourism | Travel Uttarakhand | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | ट्रेवल उत्तराखंड

यह भी पढ़ें:-

Travel: मध्यरात्रि के सूर्य का देश है नार्वे

Travel: अरुणाचल प्रदेश का हिल स्टेशन फोरगेटन लैंड

Travel: झीलों का शहर नैनीताल

Travel: दलाई लामा का घर है मक्लोडगंज