वेदांत माधवन ने अपने देश और अपने माता पिता का नाम रोशन किया

'खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2023' इवेंट में सुप्रसिध्द बॉलीवुड स्टार आर माधवन का बेटा वेदांत माधवन ने सात पदक जीते जिससे खेल जगत में उनकी खूब

By Lotpot Kids
New Update
Vedant Madhavan brought laurels to his country and his parents

'खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2023' इवेंट में सुप्रसिध्द बॉलीवुड स्टार आर माधवन का बेटा वेदांत माधवन ने सात पदक जीते जिससे खेल जगत में उनकी खूब प्रशंसा हो रही है। बेटे की जीत पर पापा आर माधवन भी फुले नहीं समा रहें हैं। 'वे खेलो इंडिया 2023' इवेंट में वेदांत और महाराष्ट्र की जीत से बेहद खुश हैं। उन्होंने इस वर्ष 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स' में महाराष्ट्र का प्रतिनिधित्व करने वाली टीम को 161 पदक (56 स्वर्ण, 55 रजत और 50 कांस्य पदक) के साथ अंक तालिका में टॉप पोजीशन प्राप्त करने के लिए बधाई दी।

इस प्रतियोगिता में वेदांत ने पांच स्वर्ण पदक और दो रजत पदक हासिल किया। इस अवसर पर माधवन ने ट्विटर में अपने बेटे वेदांत का पदकों के साथ, हँसते हुए पोज़ वाले तस्वीरें शेयर करते हुए अपनी खुशी जाहिर की। वेदांत एक राष्ट्रीय स्तर का तैराक है। माधवन ने कहा, "भगवान की कृपा से सौ मीटर, दो सौ मीटर और पंद्रह सौ मीटर में स्वर्ण (गोल्ड) और चार सौ मीटर और आठ सौ मीटर में रजत (सिल्वर) मेडल जीता। दो ट्रॉफी के लिए टीम महाराष्ट्र को बधाई। पहली ट्रॉफी तैराकी में महाराष्ट्र युवकों की टीम और दूसरी 'खेलो गेम्स' में महाराष्ट्र के लिए दूसरी ओवरऑल चैम्पियनशिप ट्रॉफी।" आर माधवन हमेशा से ही अपने बेटे वेदांत के खेल हुनर के फैन रहे हैं और अक्सर वे अपने होनहार बेटे पर गर्व जताते हैं। 2021 में माधवन और उनकी पत्नी अपने बेटे वेदांत को ऑलंपिक की तैयारियों में मदद करने के लिए दुबई शिफ्ट हुए थे। उन्होंने पिछले साल  डेनिश ओपन में स्वर्ण पदक सहित कई अन्य जीत हासिल करके सुर्खियां बटोरीं। 'खेलो इंडिया 2023 यूथ गेम्स' मध्य प्रदेश के आठ शहरों, भोपाल, इंदौर, उज्जैन, महेश्वर, बालाघाट, मंडला, जबलपुर और ग्वालियर में 30 जनवरी को शुरू हुआ और यह 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स का पांचवां संस्करण है।'

एक अन्य ट्वीट में आर माधवन ने लिखा, "अपेक्षा फर्नांडीज (6 स्वर्ण और 1 रजत) और वेदांत माधवन (5 स्वर्ण और 2 रजत) के परफॉर्मेंस से बहुत आभारी और विनम्र महसूस कर रहा हूं ।"  साथ ही उन्होंने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और खेल केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर को भी धन्यवाद दिया।

वेदांत माधवन ने वाकई अपने देश और अपने माता पिता का नाम रोशन किया।