Positive News: पर्यावरण की रक्षा

पर्यावरण की रक्षा करने का अर्थ है, अपने जीवन और आने वाली पीढ़ियों के जीवन की रक्षा करना। लेकिन आज हम ऐसे वातावरण में जी रहे हैं जहां हवा और पानी दूषित हो रहा है, साथ ही पूरे विश्व में गर्मी का स्तर बढ़ता जा रहा है।

By Lotpot Kids
New Update
Save earth

पर्यावरण की रक्षा

Positive News पर्यावरण की रक्षा:- पर्यावरण की रक्षा करने का अर्थ है, अपने जीवन और आने वाली पीढ़ियों के जीवन की रक्षा करना। लेकिन आज हम ऐसे वातावरण में जी रहे हैं जहां हवा और पानी दूषित हो रहा है, साथ ही पूरे विश्व में गर्मी का स्तर बढ़ता जा रहा है जिसे ग्लोबल वार्मिंग कहते हैं। ग्लोबल वार्मिंग की वजह से विश्व में तूफान, बाढ़, सूखा, भयंकर बारिश और लू का खतरा बढ़ जाता है। (Positive News)

क्यों पर्यावरण खतरे में है?

इसका जवाब है हमारी नदियों, नालों, झीलों के वॉटर कैचमेंट क्षेत्रों में वानस्पतिक सुरक्षा की कमी, विश्व की बढ़ती जनसँख्या की जरुरतों को पूरा करने के लिए, जंगलों, पहाड़ों, तटों की अन्धाधुन्ध कटाई, जानवरों द्वारा चराई और नए पेड़ों का ना लगाना है। आजादी के बाद से हमारे देश ने 410 मिलियन  हेक्टर जंगल भूमि खो दि है।

भारत का वन्य क्षेत्र मुश्किल से 23 प्रतिशत है जो विश्व औसत से दस प्रतिशत कम है। गहरी जड़ों वाले खाद्य फलों या औषधीय गुणों वाले विशाल पेड़ों के जड़ों द्वारा भंडारित  मिट्टी में प्रति वर्ग किलोमीटर 5,0000 से 2,00,000 क्यूसेक पानी की भण्डारण क्षमता होती है। ध्वनि प्रदूषण को भी यह पेड़ पौधे कम करने की अद्भुत क्षमता रखते हैं। पचास मीटर चौड़ा पार्क भी यातायात के शोर को 20 से तीस डेसीबल तक कम कर सकता है तो सोचिए विशाल वन क्षेत्र बड़े पैमाने पर ध्वनि प्रदूषण को कितना कम कर सकते हैं। (Positive News)

Tree with roots holding water and soil

एक हेक्टर के चौड़े पत्तों वाला जंगल कम से कम 30 से 50 टन वातावरण को दूषित करने वाली धूल और गन्दगी को इकट्ठा करके उसे उड़ने से रोक सकता है। जब नदी नाले या समुद्र उफान पर होते हैं तो अक्सर अपने बहाव के साथ किनारे के जमीन और रेत के टीले भी बहा ले जाते हैं। विशाल पेड़ पौधे, झाड़ियां, यहां तक कि घाँस भी इस कटाव को रोकता है और साथ ही हमारे पालतू पशुओं के लिए चारा भी उपलब्ध कराता है। इस तरह हम देखते हैं कि पेड़ पौधे हमारे जल संरक्षण, हवा के शुद्धिकरण, पशु पालन, बिजली और औषधी उत्पादन, भूमि रक्षण, दुर्लभ वन प्राणी जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है। (Positive News)

Forest Land

गांधी जी ने कहा था, "प्रकृति के पास सभी की जरूरतों के लिए पर्याप्त है लेकिन हर किसी के लालच के लिए नहीं"। हमारे देश में 1894 से वन नीति है, 1952 और फिर 1988 में इसे संशोधित भी किया गया। नीति का उद्देश्य वनों का संरक्षण, बंजर भूमि का विकास, पुनर्वनिकरण, वृक्षों का पुनर्रोपण, वन बंदोबस्त, प्राकृतिक विरासत का संरक्षण, नदियों, झीलों, कैच मेंट एरिया की जाँच वगैरह है। हम सबको भी चाहिए कि देश के अच्छे नागरिक होने के नाते वनों के संरक्षण, वृक्षारोपण और प्रकृति के विकास में अपना योगदान दें। (Positive News)

Lotpot Positive News | lotpot-e-comics | Save Earth | Save Environment | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | वन संरक्षण

यह भी पढ़ें:-

Positive News: मिट्टी से बनाए जाने वाले उत्पाद

Positive News: भारत का सबसे बड़ा बचाव अभियान

Positive News: सुखोई-30MKI में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की उड़ान

Positive News: निलवांडे बांध देगा 182 गांवों को लाभ