इन जायकों वाली चीज़ों को खाते समय रखें ध्यान

पेचीदा खाना

Keep in mind while eating these flavors

स्पगेटी को ज्यादातर लोग सही ढंग से नहीं खाते है। एटिकेट एक्सपर्ट डीएन गोट्समन कहती है, ‘‘स्पगेटी एक मुश्किल खाना है‘‘। आप इसे अपनी उँगलियों से नहीं खा सकते और कटोरी में इसे उठाने के लिए अपनी चम्मच को नूडल्स के झुण्ड में गोल गोल घुमाना गलत है। बल्कि आपको दो तीन नूडल्स अलग अलग करके उसे कांटे की मदद से खाना चाहिए। वह कहती है या फिर आप स्पगेटी खाये ही नहीं। अगर मेन्यू में पास्ता हो तो आप पेन्ने या फिर रैवियोली खाये और वाइट साॅस वाला पास्ता खाये ताकि खाने के बाद आपके दांतो पर कुछ चिपके नहीं। स्पगेटी अल नीरो दी सीपिया से परहेज करे क्योंकि इसके काले रेशे आपके दांतों पर कालापन छोड़ देंगे। इसकी जगह स्पगेटी अल्ला कार्बोनारा का सेवन करे।

आलू से बचकर रहे

Keep in mind while eating these flavors
एक शाकाहारी के लिए बेक्ड आलू बनाना बहुत मायने रखता है। एमिली पोस्ट की 1967 में प्रकाशित हुई किताब ‘‘द पाॅकेट बुक ऑफ एटिकेट’’ में उन्होंने बेक्ड आलू को खाने का तरीका बताया है। उन्होंने बताया, ‘‘अगर इसे परोसने से पहले नहीं बनाया गया, तो इसे उँगलियों से बीच में तोड़कर खाया जाता है। इसके अंदर का सारा हिस्सा निकालकर फिर उसमे मक्खन, नमक और काली मिर्च मिलाकर काँटे से खाया जाता है। ‘‘लेकिन न्यूयाॅर्क के एटिकेट स्कूल की फाउंडर पार्टिसिआ नेपियर बताती हैं कि, ‘‘मैं काँटेे और चाकू की मदद से आलू को आधा काटने की सलाह देती हूँ और फिर उसे काँटे से खाने की सलाह देती हूँ और इसके ऊपर काँटे से नमक और काली मिर्च मिलाये।

सुशी उँगलियों से खाने वाला खाना है

Keep in mind while eating these flavors
अपनी चाॅपस्टिक्स को सुशी खाते समय एक तरफ रख दे और सुशी को अपनी उँगलियों से खाये। लाॅस एंजेलेस टाइम्स के एक आर्टिकल के मुताबिक टोक्यो सुशी शेफ नोमिची यसुदा का कहना है कि सामन रोल को अपनी उँगलियों से खाना सही तरीका है। अपनी सुशी को सोया साॅस में डुबोये नहीं उस पर सिर्फ साॅस उस पर लगाए और खाये। सोया साॅस आपके खाने में बहुत सारा सोडियम डालते है इसलिए इसे कम खाना चाहिए। सुशी के साथ अचार अदरक एक साथ न खाये, उसे अलग से खाये।

आइसक्रीम को आवाज करते हुए न खाये

Keep in mind while eating these flavors
मिनेसोता पैच ने कहा हैं कि विक्टोरियन और एडवर्डियन डिनर टेबल पर लगी चांदी खाने वाले इंसान को धीरे खाने के लिए लगायी जाती है। मेहमानों को खाने से नहीं बल्कि उनके साथ बैठने से खुश किया जाता है। उदहारण के तौर पर आमतौर पर जब कोई आइसक्रीम खाने के लिए देता है तो ध्यान रखा जाता है कि आइसक्रीम को मेहमान पिघलने से पहले ही खा ले। मेहमान यह तभी कर सकते है जब वह चालाकी से छोटे छोटे टुकड़े लेकर आइसक्रीम खायेगा।