छत्तीसगढ़ में घूमने वाली उम्दा जगह !

बर्नवापरा वन्यजीव अभ्यारण्य
बर्नवापरा वन्यजीव अभ्यारण्य महासमुंद जिले के उत्तरी हिस्से में स्थित यह वन्यजीव अभ्यारण्य 1976 में 245 स्क्वायर किलोमीटर के हिस्से में बना था। यह अभ्यारण्य काफी हिट रहा और रायपुर की सबसे आकर्षित जगहों में यह सातवे नंबर पर आता है।

श्री राजीव लोचन मंदिर
राजीव लोचन मंदिर का मतलब असल में सुन्दर आँख होता है और यह भगवान विष्णु का प्रतीक है। महाकोसल की खूबसूरत वास्तुकला का यह मंदिर उम्दा उदाहरण है।

दंतेश्वरी मंदिर
चालुक्य राजाओ की पौराणिक भगवान वारंगल की स्थापना डंकिनी नदी और शंकिनी नदी की एकत्रीकरण के पास दंतेश्वरी के रूप में हुई थी, इसलिए इस जगह को दंतेश्वरी कहा जाता है ।

चित्रकोट झरना
विन्दु हिमालय से नदी इंद्रावती का पानी बहकर चित्रकोट झरना बनाता है। इसे भारत का नियाग्रा फाल्स भी कहा जाता है। यह भारत का सबसे बड़ा झरना है और इसे बारिश के मौसम में देखने का और भी मजा आता है।

राजीव स्मृति वन
पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गाँधी की याद में बनी यह जगह एक अनोखी प्राकृतिक संरक्षण जगह है। 14 एकड़ में बनी यह जगह लोगों को पर्यावरण के संरक्षण के प्रति जागरूक करने के लिए बनायीं गयी थी।

महाकोशल कला गैलरी
यह कला गैलरी सभी लोकल लोगों की कला को दर्शाती है और यहाँ कई कला प्रदर्शनियों का प्रदर्शन किया जाता है।

पुरखौती मुक्तांगन
पुरखौती मुक्तांगन को छत्तीसगढ़ की संस्कृति डिपार्टमेंट ने बनाया था और यह 18 हेक्टेयर जमीन पर फैला हुआ है। यह पूरी प्राकृतिक रिसोर्सेज को मौजूदा इंडस्ट्री के साथ प्रदर्शित करता है।

बर्नवापरा वन्यजीव अभ्यारण्य
बर्नवापरा वन्यजीव अभ्यारण्य महासमुंद जिले के उत्तरी हिस्से में स्थित यह वन्यजीव अभ्यारण्य 1976 में 245 स्क्वायर किलोमीटर के हिस्से में बना था। यह अभ्यारण्य काफी हिट रहा और रायपुर की सबसे आकर्षित जगहों में यह सातवे नंबर पर आता है।

श्री राजीव लोचन मंदिर
राजीव लोचन मंदिर का मतलब असल में सुन्दर आँख होता है और यह भगवान विष्णु का प्रतीक है। महाकोसल की खूबसूरत वास्तुकला का यह मंदिर उम्दा उदाहरण है।

दंतेश्वरी मंदिर
चालुक्य राजाओ की पौराणिक भगवान वारंगल की स्थापना डंकिनी नदी और शंकिनी नदी की एकत्रीकरण के पास दंतेश्वरी के रूप में हुई थी, इसलिए इस जगह को दंतेश्वरी कहा जाता है ।

Beautiful place to visit in Chhattisgarh!

चित्रकोट झरना
विन्दु हिमालय से नदी इंद्रावती का पानी बहकर चित्रकोट झरना बनाता है। इसे भारत का नियाग्रा फाल्स भी कहा जाता है। यह भारत का सबसे बड़ा झरना है और इसे बारिश के मौसम में देखने का और भी मजा आता है।

राजीव स्मृति वन
पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गाँधी की याद में बनी यह जगह एक अनोखी प्राकृतिक संरक्षण जगह है। 14 एकड़ में बनी यह जगह लोगों को पर्यावरण के संरक्षण के प्रति जागरूक करने के लिए बनायीं गयी थी।

महाकोशल कला गैलरी
यह कला गैलरी सभी लोकल लोगों की कला को दर्शाती है और यहाँ कई कला प्रदर्शनियों का प्रदर्शन किया जाता है।

पुरखौती मुक्तांगन
पुरखौती मुक्तांगन को छत्तीसगढ़ की संस्कृति डिपार्टमेंट ने बनाया था और यह 18 हेक्टेयर जमीन पर फैला हुआ है। यह पूरी प्राकृतिक रिसोर्सेज को मौजूदा इंडस्ट्री के साथ प्रदर्शित करता है।

बर्नवापरा वन्यजीव अभ्यारण्य

बर्नवापरा वन्यजीव अभ्यारण्य महासमुंद जिले के उत्तरी हिस्से में स्थित यह वन्यजीव अभ्यारण्य 1976 में 245 स्क्वायर किलोमीटर के हिस्से में बना था। यह अभ्यारण्य काफी हिट रहा और रायपुर की सबसे आकर्षित जगहों में यह सातवे नंबर पर आता है।

श्री राजीव लोचन मंदिर
राजीव लोचन मंदिर का मतलब असल में सुन्दर आँख होता है और यह भगवान विष्णु का प्रतीक है। महाकोसल की खूबसूरत वास्तुकला का यह मंदिर उम्दा उदाहरण है।

दंतेश्वरी मंदिर
चालुक्य राजाओ की पौराणिक भगवान वारंगल की स्थापना डंकिनी नदी और शंकिनी नदी की एकत्रीकरण के पास दंतेश्वरी के रूप में हुई थी, इसलिए इस जगह को दंतेश्वरी कहा जाता है ।

चित्रकोट झरना
विन्दु हिमालय से नदी इंद्रावती का पानी बहकर चित्रकोट झरना बनाता है। इसे भारत का नियाग्रा फाल्स भी कहा जाता है। यह भारत का सबसे बड़ा झरना है और इसे बारिश के मौसम में देखने का और भी मजा आता है।

राजीव स्मृति वन
पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गाँधी की याद में बनी यह जगह एक अनोखी प्राकृतिक संरक्षण जगह है। 14 एकड़ में बनी यह जगह लोगों को पर्यावरण के संरक्षण के प्रति जागरूक करने के लिए बनायीं गयी थी।

महाकोशल कला गैलरी
यह कला गैलरी सभी लोकल लोगों की कला को दर्शाती है और यहाँ कई कला प्रदर्शनियों का प्रदर्शन किया जाता है।

पुरखौती मुक्तांगन
पुरखौती मुक्तांगन को छत्तीसगढ़ की संस्कृति डिपार्टमेंट ने बनाया था और यह 18 हेक्टेयर जमीन पर फैला हुआ है। यह पूरी प्राकृतिक रिसोर्सेज को मौजूदा इंडस्ट्री के साथ प्रदर्शित करता है।

यहाँ भी जाएँ : Travel : अनछुई और रहस्यमयी सुंदरता की जमीन तीर्थन घाटी, एक बार तो जरूर जाएँ

Facebook Page