Category "Newsline"

21Jun2022

पाँच साल की उम्र में ज्यादातर बच्चें खेलने में लगे रहते हैं या ए बी सी सीख रहे होते हैं लेकिन कभी कभी कुछ बच्चे इसी उम्र में वो काम कर जाते हैं जो बड़ी उम्र के लोगों को करते देखा गया है। माउथ डोर सेट की रहने वाली पाँच वर्षीय नन्ही ब्रिटिश बच्ची बेला जे डार्क ने इस छोटी सी उम्र में ना सिर्फ एक किताब लिखी, बल्कि कहानी के अनुसार उसमें खुद चित्र भी बनाए और आज वो किताब धड़ल्ले से बिक रही है। ऐसे में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में बेला का नाम दर्ज होना स्वाभाविक है। लेकिन ये सब हुआ कैसे? दरअसल शुरू से ही बेला को लिखने और चित्रकारी का शौक था।

17Jun2022

19 जून को Father’s Day है** और निम्नलिखित शो की लिस्ट में उन कहानियों को बताया गया है जो एक पिता और उनके बच्चों के रिश्ते की सुंदरता को दर्शाती है।
चंद अपवादों को छोड़कर हर व्यक्ति के जीवन में पिता का गहरा अस्तित्व होता है जो अपने बच्चों का अथक रूप से रक्षा करते हैं, पोषण करते हैं और मार्गदर्शन करते हैं।
.इस फादर्स डे, पर ट्यून करें द लायन किंग,’ ‘बिली इलियट- द म्यूजिकल’, ‘द साउंड ऑफ म्यूजिक,’ ‘किंग रिचर्ड’ और ‘दिस इज अस’ जैसे भावुक पसंदीदा, फादर्स डे पर विशेष।:–
अब तक अनगिनत लेखकों और फिल्म निर्माताओं को ‘टू किल ए मॉकिंगबर्ड’, ‘इट्स अ वंडरफुल लाइफ’ और ‘फादर ऑफ द ब्राइड’ जैसी क्लासिक्स में असाधारण पिता की कहानियों के इर्द-गिर्द कहानियां बुनने के लिए प्रेरित किया गया है। 19 जून को इस फादर्स डे पर , ऐसी ही कहानियों में ट्यून करें, जो बिना शर्त प्यार, गर्मजोशी, आराम, प्रेरणा और मार्गदर्शन प्रदान करके अपने बच्चों के जीवन में पिता द्वारा निभाई जाने वाली महत्वपूर्ण भूमिका का जश्न मनाती हैं।

द  लायन किंग

Father's Day special - even if you don't bring dolls, papa is coming early

1994 की इस एनिमेटेड क्लासिक में बड़ी भावनात्मक गहराई के साथ दर्शाया गया है कि कैसे उनकी मृत्यु के बाद भी, दुर्जेय मुफासा की विरासत, उनके शावक सिम्बा को प्रेरित करती रही। हालाँकि शुरू में, दुःख से अभिभूत होकर, सिम्बा निर्वासन में भाग जाता है, लेकिन जल्द ही उसके दोस्त नल और उसके जादूगर रफ़ीकी का समर्थन उसे जीवन के चक्र में अपना सही स्थान लेने में मदद करता है। वह न केवल अपने पिता की हत्या का बदला लेता है बल्कि पशु साम्राज्य में शांति भी वापस लाता है। मुफासा द्वारा सिखाए गए पाठ न केवल सिम्बा के लिए बल्कि दर्शकों के लिए भी प्रासंगिक हैं क्योंकि वे हमें अपने रिश्तों को पोषित करने, जीवन की व्यापक दृष्टि रखने और सभी को लाभ पहुंचाने वाले अच्छी तरह से मापे गए निर्णय लेने की याद दिलाते हैं। फिल्म में यह भी दिखाया गया है कि एक पिता का प्यार नुकसान, दुख और मौत को झेलता है। द लायन किंग डिज़नी + हॉटस्टार पर स्ट्रीमिंग कर रहा है और इसकी स्टर्लिंग वॉयस कास्ट में मैथ्यू ब्रोडरिक, जेरेमी आयरन, नाथन लेन, रोवन एटकिंसन और व्हूपी गोल्डबर्ग शामिल हैं।

बिली इलियट: द म्यूजिकल

Father's Day special - even if you don't bring dolls, papa is coming early

ज़ी थिएटर की यह पेशकश, इंग्लैंड के काउंटी डरहम में एक काल्पनिक खनन शहर एवरिंगटन में पले-बढ़े बिली इलियट के इर्द-गिर्द घूमती है। बिली अपने विधुर, कोयला खनिक पिता जैकी, बड़े भाई टोनी और नानी के साथ रहता है। इस अंधकारमय और साधारण अस्तित्व में, जहां उसके पिता उससे मुक्केबाजी सीखने की उम्मीद करते हैं, लेकिन बिली, बैले नृत्य के प्यार में पड़ जाता है। जैकी एक पारंपरिक, कठोर पिता है जो सोचता है कि नृत्य के लिए बिली का जुनून लोगों को यह सोचने पर मजबूर कर देगा कि वह समलैंगिक है। बिली हालांकि बैले सीखना जारी रखता है और अपने सपने में उसके अटूट विश्वास को अंततः न केवल अपने पिता की स्वीकृति बल्कि अपने शहर का समर्थन प्राप्त होता है। इसका संगीत, यह दर्शाता है कि कैसे एक पीढ़ी के अंतर के कारण पिता और पुत्र के लिए संवाद करना मुश्किल हो सकता है, यह भी दर्शाता है कि आखिरकार, प्यार किसी भी दूरी को पाट सकता है। वह क्षण जब बिली ‘स्वान लेक’ में मुख्य भूमिका निभाते हैं, जबकि उनके पिता और भाई आश्चर्य से देखते हैं, हर बार दर्शकों से जोरदार जयकार करते हैं। .’बिली इलियट: द म्यूजिकल’ का निर्देशन स्टीफन डाल्ड्री और ब्रेट सुलिवन ने किया है और इसमें इलियट हैना, रूटी हेंशल और डेका वाल्म्सली ने अभिनय किया है। इसे टाटा प्ले थिएटर पर दिखाया जा रहा है।

द साउंड ऑफ म्युजिक

Father's Day special - even if you don't bring dolls, papa is coming early

1965 की इस क्लासिक फिल्म के केंद्र में, खुशी खुशी पालन-पोषण की एक सरल कहानी है जहाँ आखिर में एक कठोर पिता यह सीखता है कि अनुशासन से अधिक, उसके बच्चों को अपने समय और ध्यान की आवश्यकता होती है। अपनी पत्नी के खोने से परेशान, कैप्टन जॉर्ज वॉन ट्रैप (क्रिस्टोफर प्लमर) अपने बच्चों के साथ सैन्य कैडेटों की तरह कठोरता से व्यवहार करता है और अगर वे उनके असंभव ढंग -से-पालन पोषण के नियमों को तोड़ते हैं तो उन्हें फटकार लगाते हैं। वह उनके साथ बहुत कम या बिल्कुल भी समय नहीं बिताते हैं। यह सब तब बदलता है जब एक उत्साही नई गवर्नेस मारिया (जूली एंड्रयूज) बच्चों के लिए खड़ी होती है और बच्चों के जीवन में चंचलता, संगीत और आनंद वापस लाती है, तब जाके पिता पिघल जाता है और न केवल गायन के अपने शौक को फिर से खोज लेता है बल्कि प्यार करने वाला एक पिता भी बन जाता है जिसके लिए उनके बच्चे हमेशा तरसते थे। एक बार, संकट के एक क्षण में, वह शांत, सुरक्षात्मक और बहादुरी के साथ अपने परिवार को ऑस्ट्रिया से बाहर ले जाता है। आप ‘द साउंड ऑफ़ म्यूज़िक लाइव!’ देख सकते हैं, जो ज़ी थिएटर द्वारा भारत लाया गया एक स्टार-स्टडेड लाइव प्रोडक्शन है। अब ये टाटाप्ले थिएटर पर चल रहा है, इस संस्करण में कई ग्रैमी विजेता कैरी अंडरवुड हैं, जो मारिया के साथ-साथ एक स्टार कलाकार हैं।

किंग रिचर्ड

Father's Day special - even if you don't bring dolls, papa is coming early

इस 2021 की कहानी पर आधारित स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म में, विल स्मिथ निभा रहे हैं रिचर्ड विलियम्स की भूमिका , जो टेनिस चैंपियन वीनस और सेरेना विलियम्स के पिता और कोच हैं। विलियम्स, अपने टेनिस सर्किट में एक अत्यधिक विवादास्पद व्यक्ति के रूप में जाने जाते हैं। जब वीनस और सेरेना बड़े हो रहे थे, उन्होंने उन्हें कभी-कभी उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए बहुत जोरदार धक्का दिया और अपने करियर को बिना किसी खेद के नियंत्रित किया। अपनी पत्नी ब्रांडी के साथ, उन्होंने तीन सौतेली बेटियों के परिवार का पालन-पोषण किया।  वीनस और सेरेना, अपने मिशन पर एक आदमी की तरह थे। अपनी बेटियों की दिनचर्या को व्यवस्थित करने से लेकर यह सुनिश्चित करने तक कि वे अपने लक्ष्यों से कभी न चूकें, वह अक्सर बहुत दूर चले जाते थे, लेकिन आज उनकी सफलता की कहानियों के पीछे उनके ताकत के रूप में पहचाने जाते हैं। उन्होंने सिखाया कि सफलता आकस्मिक नहीं है, बल्कि उन्हें अस्तित्व में लाना पड़ता है और इसीलिए उन्होंने उनके जन्म से पहले ही, उनके लिए एक योजना बनाई। वह दो काम करते हुए उन्हें रोजाना कोचिंग देते थे और जब समय आया, तो उन्हें ऐसे कोच मिले जो उनकी कच्ची प्रतिभा को चमका दिया। फिल्म अमेज़न प्राइम वीडियो पर स्ट्रीमिंग कर रही है।

दिस इज़ अस

Father's Day special - even if you don't bring dolls, papa is coming early

डिज़नी + हॉटस्टार पर अब स्ट्रीमिंग ‘हो रही है,’ दिस इज़ अस’ एक पारिवारिक ड्रामा है जो पेरेंटिंग में समृद्ध अंतर्दृष्टि प्रदान करता है और बताता है कि कैसे पिता को अति-मर्दाना होने की आवश्यकता नहीं है,बल्कि कोमल तथा भावनात्मक रूप से पोषण हो सकता है। जैक और रेबेका पियर्सन कहानी के केंद्र में हैं, क्योंकि वे तीन बच्चों, केविन, केट और रान्डेल को नस्लवाद सहित विभिन्न चुनौतियों के माध्यम से चुनते हैं, जो रान्डेल (यानी उनके अफ्रीकी-अमेरिकी दत्तक बच्चे) को बड़े होने के दौरान सामना करना पड़ता है। कहानी में एक मोड़ तब आता है जब जैक अचानक एक विनाशकारी आग के बाद मर जाता है जो परिवार के घर को जलाकर राख कर देता है। इस नुकसान की कहानी परिवार को कैसे प्रभावित करती है और कैसे जैक का प्यार उसके बच्चों को जीवन की कई चुनौतियों से निपटने के लिए प्रेरित करता रहता है, ये कहानी का मर्म है। ये शो छह सीज़न में फैली हुई है जो आपको हंसाती है, रुलाती है,  सीखाती है और विकसित करती है।इस बहुप्रशंसित शो में मिलो वेंटिमिग्लिया, मैंडी मूर, स्टर्लिंग के. ब्राउन, क्रिसी मेट्ज़, जस्टिन हार्टले, सुसान केलेची वाटसन और अन्य शामिल हैं।

-सुलेना मजुमदार अरोरा

16Jun2022

कहते है कि इच्छा  शक्ति के आगे तूफान भी झुक जाता है। कुछ ऐसी ही कहानी है आईएएस अधिकारी आरती डोगरा (Aarti Dogra) की जिन्होंने उन विषम परिस्थितियों में भी हार नहीं मानी जहां कदम कदम पर उन्हें कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। आरती का शारीरिक कद भले ही साढ़े तीन फुट है लेकिन उनके कर्मों का कद विशाल है।

13Jun2022

टैक्स क्या है ओर इसकी बारीकियों को समझने में अच्छे-अच्छे लोगों का भी पसीना छूट जाता है। लेकिन अगर आप देश में रहना चाहते हैं, तो आपको टैक्स की समझ होना जरुरी हैं क्योंकि देश में रहने के लिए भी तो टैक्स देना होता। हर साल सभी लोगों को टैक्स देना पड़ता है, लेकिन वे यह समझे बिना टैक्स देते हैं कि उन्हें यह पैसा कहा और किस लिए देना पड़ रहा है। देश में टैक्स को लेकर अभी भी ज्यादातर लोगों में जागरूकता की कमी है उन्हें इसके बारे में समझने में परेशानी होती हैं। आम लोगों को इस बात की चिंता सताती है कि अगर टैक्स बदलता है या बढ़ता है तो उन्हें समझ नहीं आएगा कि पैसा क्यों काटा गया।

Learn Tax Importance with Lotpot Comic Character Motu Patlu and become a Tax Expert

लेकिन अब इस बत कि टेंशन लेने के दिन गए क्योंकि सरकार ने बच्चों से लेकर बड़ों तक को ‘टैक्स एक्सपर्ट’ बनाने के लिए हमारे प्यारे लोटपोट के कॉमिक कैरक्टर और निकटून्स यानि मोटू-पतलू द्वारा एक अनोखी कॉमिक बुक लॉन्च की है।

दरअसल Income Tax Department और Central Board of Direct Taxes (CBDT) ने हमारे प्यारे लोटपोट कार्टून कैरक्टर मोटू-पतलू के माध्यम से लोगों को टैक्स की इम्पोर्टेंस के बारे में समझाने के लिए एक डिजिटल कॉमिक बुक तैयार की है। Finance Minister Nirmala Sitharaman ने बीते शनिवार यानि 11 जून को इस कॉमिक बुक को लॉन्च किया। हमारी सरकार ने इस कैंपेन को #TaxLiteracyKhelKhelMein के नाम से शुरू किया।

इस कैंपेन के माध्यम से और बच्चो के सबसे पसंदीदा कार्टून कैरक्टर मोटू-पतलू की मदद से सरकार युवाओं के बीच टैक्स की जानकारी को बढ़ाना चाहती है। इस कॉमिक बुक के साथ बच्चो से लेकर बड़े तक असानी से खेल खेल में टैक्स के बारे में अधिक जानकारियां प्राप्त कर पाएगे। यह नया कैंपेन  ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ के आइकॉनिक वीक फेस्टिवल समापन के मौके पर Finance Minister Nirmala Sitharaman द्वारा शुरू किया गया था।

Learn Tax Importance with Lotpot Comic Character Motu Patlu and become a Tax Expert

वैसे इस समय पूरे देश में साइबर क्राइम के केस बढ़ते जा रहे है। आम आदमी को बेवकूफ बनाने के लिए जालसाज लगातार नए-नए पैतरे आजमा रहे हैं। जिसके चलते इनके जाल में फंसकर आम लोगों को धन की हानि हो रही है। लेकिन अब इन सब के बारे में सतर्क करने के लिए हमारे प्यारे लोटपोट कॉमिक कैरक्टर मोटू-पतलू आ गए है अपनी टैक्स एक्सपर्ट कॉमिक बुक के साथ, जो आपको अपने फनी डायलॉग्स के साथ टैक्स के बारे में सारी समझ देगे।

Learn Tax Importance with Lotpot Comic Character Motu Patlu and become a Tax Expert

इस कॉमिक बुक को पुरे भारत के स्कूलों में Income Tax offices के नेटवर्क के माध्यम डिस्ट्रीब्यूट किया जाएगा साथ हि इसे बुकस्टोर्स पर भी जल्दी डिस्ट्रीब्यूट किया जाएगा

8Jun2022

एक जमाना था जब हम अपने घरों के आसपास बहुत सारे चिड़िया देखा करते थे, लेकिन जैसे जैसे बिल्डिंगे, पक्की सड़कें, फैक्ट्री, इंडस्ट्री बनाने के लिए जंगल, बाग बगीचे काटे जाने लगे, गौरैया जैसे कितनी छोटी पंछियां हमसे दूर होने  लगी। जिस तरह से पेड़ पौधे हमारे पर्यावरण के लिए जरूरी है वैसे ही हमारे ये प्राकृतिक निवासी भी पर्यावरण के संतुलन के लिए जरूरी है। दिल्ली के रहने वाले राकेश खत्री को यही बात, बीस वर्ष पहले समझ में आ गई थी जब वे दिल्ली में रहने  आए थे।

30May2022

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी  ने प्रगति मैदान में जब भारत का सबसे बड़ा ड्रोन महोत्सव का लोकार्पण किया और कहा कि कुछ ही वर्षों में भारत विश्व का सबसे बड़ा ड्रोन हब बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है तो ऐसे में यह प्रश्न उठता है कि आखिर यह ड्रोन इतना महत्त्वपूर्ण क्यों बनता जा रहा है और इसका उपयोग किन किन क्षेत्रों में किया जा सकता है।

हम सबको पता है कि ड्रोन आमतौर पर किसी भी अनपायलटेड एयर क्राफ्ट यानी मानव रहित विमान को कहा जाता है, जिसे कई बार अनमैंन्ड ऐरियल विहाइकल्स (UAV)  यानी मानव रहित हवाई वाहन विमान (यूएवी) भी कहा जाता है। ड्रोन आसान और मुश्किल दोनों कार्य कर सकते है। इसका आकार कई बार किसी हवाई जहाज जितना बड़ा भी हो सकता है और अपनी हथेली जितना छोटा भी। यह ड्रोन हमारे घर के दरवाजे या खिड़की, या फिर बाल्कनी में हमारे किराने के सामानों या फिर जरूरी दवाइयों की डेलिवरी करने के  लिए, सही वक्त पर प्रवेश कर सकता है और कई बार खतरनाक कार्यों के लिए भी इस्तमाल किया जाता है।

Why are drones so important

यह रोबोट की तरह वाहन, ऐसे ऐेसे बीहड़ और कठिन जगहों पर पहुँच सकता है जहां कई बार इंसानों के लिए जाना सम्भव नहीं होता, जैसे गहरी खाई या घाटियों में फँसे या पहाड़ से गिरता हुआ बर्फ के ढेर (हिमस्खलन) में दबे आम नागरिक या हमारे देश के जवानों को बचाने और मदद पहुंचाने के लिए होता है इसका उपयोग।

शुरुआत में ड्रोन्स को मिलिटरी उपयोग या फिर एयरोस्पेस इंडस्ट्रीस के लिए बनाया गया था लेकिन अब उसकी बेहतरीन तरीके की सुरक्षित और अति कुशलतापूर्ण कार्यप्रणाली के चलते उसे हर तरह के उपयोग के लिए इस्तमाल किया जा रहा है। यह हवाई वाहन बिना किसी ऑन बोर्ड पायलट के, कार्य कर सकता है जिसके मूवमेंट को अलग अलग लेवल पर इंसानी पायलट द्वारा परोक्ष रूप से यानी रिमोट से कन्ट्रोल किया जाता है।

इसका स्वचालन प्रणाली अलग अलग रेंज पर काम करता है जिसमें रिमोट पायलट (यानी इंसानी पायलट द्वारा रिमोट से संचलन करना) से लेकर एडवांस ऑटोनॉमी यानी जहां ड्रोन अपनी गतिविधियों को कैलकुलेट करने के लिए अपने खुद के सेंसर तथा LIDAR सिस्टम पर आधारित होता है। अलग अलग तरह के ड्रोन अलग अलग दूरी और ऊंचाई पर उड़ने में सक्षम है, जो तीन किलोमीटर से लेकर 400 किलोमिटर तक है और ऊंचाई का लेवल 3000 फीट है।

Why are drones so important

यही कारण है कि ड्रोन किसी भी आपदा, विपदा पर किसी भी परिस्थिति में सबसे पहले मदद  पहुंचाने में सक्षम होने के कारण आज उसकी इतनी चर्चा और मांग है तथा भारत देश जल्द ही ड्रोन के द्रोणाचार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विश्व का सब से बड़ा ड्रोन हब बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

-सुलेना मजुमदार अरोरा 

24May2022

आज दुनिया में नित नए आविष्कार होते जा रहे हैं जिससे इंसानों को नई नई सुविधाएं मिलती जा रही है। हाल ही में कैंब्रिज विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने शैवाल (Algae) का इस्तमाल करते हुए एक ऐसी बैट्री का निर्माण किया जो स्व चालित यानी अपने आप चलती हो और जब इस बैट्री को एक कम्पुटर प्रोसेसर से जोड़ा गया तो वो लगातार, दिन रात छह महीने तक चलता रहा।

24May2022

भारत का नाम रौशन करने वाले बच्चों में सोलह साल का किशोर आर प्रज्ञानंद (रमेश बाबू प्रज्ञानंद) का इन दिनों खूब चर्चा हो रही है। इस किशोर ने पिछले तीन महीनों में दूसरी बार वर्ल्ड के नंबर वन चेस मास्टर मैगनस कार्लसन को हरा दिया। इससे पहले इस चेस ग्रांडमास्टर प्रज्ञानंद ने 21 फ़रवरी को ऑनलाइन रैपिड शतरंज टूर्नामेंट एयरथिंग्स मास्टर्स के आठवें दौर में कार्लसन को 39 चाल में मात दे दी थी।

23May2022

दिन पहले यूके के सफ़ोल्क स्थित बाउडसा समुन्दर तट पर, सीपियाँ ढूँढते हुए एक छह साल के बच्चे  सैम्मी शेल्टन को तीन मिलियन वर्ष पहले का एक मेगालोडन शार्क का विशालकाय दांत मिला और यह खबर दुनिया में आग की तरह फैल गई।

17May2022

इसरो ने पिछले दिनों भारत के गगन यान मिशन को शक्ति प्रदान करने वाले रॉकेट का सफ़लता पूर्वक परिक्षण कर लिया। इसरो ने इस बूस्टर का एक स्थिर अग्नि परिक्षण किया जो गगन यान मिशन को  ग्राउंड से लिफ्ट ऑफ कर सकता है। भारतीय अंतरिक्ष और अनुसंधान संगठन (इसरो) ने पिछले सोमवार को बूस्टर का एक स्टैटिक फायर टेस्ट सफ़लता के साथ सम्पूर्ण किया जो भारत के प्रथम अंतरिक्ष यात्री मिशन गगन यान को बल देगा।