Bal Kavita: नई सुबह

By Lotpot Kids
New Update
Morning image

नई सुबह

नई सुबह

लो पूरब में छाई लाली,
चिड़िया चहकी डाली डाली। 

रात ढल गई बिस्तर छोड़ो,
नई सुबह से नाता जोड़ो। 

हंसते हंसते जो जगते हैं,
फूलों से सुन्दर लगते हैं। 

भोर जगाये आंखे खोलो,
भारत माता की जय बोलो। 

काम सभी कर डालो अपना,
पड़े देखते रहो न सपना। 

मीठे बोल सभी से बोलो,
बात बात में मिसरी घोलो। 

lotpot-e-comics | hindi-bal-kavita | manoranjak-bal-kavita | kids-poem | kids-hindi-poem | kids-rhymes | hindi-rhymes | hindi-rhymes-for-kids | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | hindii-baal-kvitaa | bccon-kii-mnornjk-kvitaa | bccon-kii-kvitaa

यह भी पढ़ें:-

Bal Kavita: प्यारी गौरईया

Bal Kavita: ऊंट हुआ कुबड़ा

Bal Kavita: बच्चे हम

Bal Kavita: गणेशा मेरा बेस्ट फ्रेंड