Bal Kavita: प्यारी गौरईया

By Lotpot Kids
New Update
Sparrow Cartoon image

प्यारी गौरईया

प्यारी गौरईया

जल्दी आकर देखो भईया, 
कितनी सुदंर ये गौरईया।

छोटे-छोटे पंख हिलाती,
चुपके से ये घर में आई।

आंगन को खाली देखा तो,
फुदक-फुदक कर ये इतराई।

चावल के दाने जब देखे,
मित्रों को भी बुला लिया।

ची-ची करके दाने चुनकर,
पेट भरा और मजा लिया।

मस्ती में फिर ऐसे झूमी,
ज्यों नाचे करके ता-थईया। 

गोल-गोल सी आंखों वाली,
लगती प्यारी ये गौरईया।

lotpot-e-comics | hindi-bal-kavita | manoranjak-bal-kavita | kids-rhymes | entertaining-kids-poem | kids-poem | hindi-kids-poem | hindi-rhymes-for-kids | hindi-rhymes | kids hindi poem | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | hindii-baal-kvitaa | बच्चों की कविता

यह भी पढ़ें:-

Bal Kavita: सन्देश

Bal Kavita: मेंढक मामा

Bal Kavita: जनवरी आ गई

Bal Kavita: तारे