अपने बच्चो को स्वस्थ नाखून देखभाल के बारे में समझाए

Teach Your Kids About Healthy Nail Care : आपके नाखून टूट सकते है तो इसलिए यह जरूरी है कि आप अपने बच्चे को नाखून कि देखभाल करना सिखाये। अपने बच्चों को दिए गए टिप्स सिखाये इससे उन्हें नाखून को स्वस्थ रखने की आदत पड़ेगी।

नाखून को काट कर रखे। छोटे नाखून साफ रहते है और टूटते कम है।

डर्मेटोलाॅजिस्ट कहते है कि बड़ो को बच्चों के नाखून 9-10 साल की उम्र तक काटने चाहिए। इसके बाद बच्चे अपने नाखून काट सकते है।

और पढ़ें : गर्मियों में स्वस्थ खाना खाने के 3 टिप्स

हाथों और पैरों के नाखूनों को कैसे काटे?

जब आपका बच्चा अपने खुद के नाखून काटने के लिए तैयार हो तो उसे यह बातें सिखायेः

नहाने के बाद नाखून काटे। नहाने के बाद नाखून मुलायम होते है इसलिए उन्हें काटना आसान होता है।

नाखून काटने के लिए नेलकटर का इस्तेमाल करे

उँगलियों के नाखून को बीच में से सीधा काटे और कार्नर से हल्का सा गोल करले, इससे आपके नाखून मजबूत रहेंगे।

पैरों के नाखूनों को सीधा काटे, इससे आधे नाखून नहीं बढ़ेंगे।

उपत्वचा यानी क्यूटिकल को छोड़ दे। क्यूटिकल नाखून की जड़ को बचाते है इसलिए इन्हे काटे नहीं।

हाथों को अच्छे से सुखाये। अगर हाथ लम्बे समय तक गीले रहेंगे तो नाखूनों में इन्फेक्शन हो जायेगा।

नाखूनों पर लोशन लगाए। नाखूनों को कोमलता चाहिए इससे यह फ्लेक्सिबल रहेंगे। लोशन लगाने का सबसे बढ़िया समय हाथ धोने के बाद है। सूखे नाखून जल्दी टूटते है।

नेल पोलिश रिमूवर को महीने में दो बार से ज्यादा इस्तेमाल न करे। एसीटोन के बिना वाले रिमूवर को चुने जो हाथ के लिए सही होता है।

प्रोटीन और विटामिन बी 7 से युक्त खाने को खाये। मांस, मच्छी, अखरोट, बादाम, अंडे प्रोटीन और विटामिन बी 7 से भरपूर होते है और यह नाखूनों को स्वस्थ और मजबूत बनाते है।

नाखूनों को मुँह से न तोड़े क्यूंकि इससे आपको इन्फेक्शन हो सकता है। हैंगनेल की देखभाल के लिए अपने हाथों को साबुन और पानी से धोये। नाखूनों से लगी हुई लटकती हुई त्वचा को नेल क्लिपर से काटे।

पैर के नाखूनों की भी अच्छी तरह देखभाल करे। क्योंकि पैर के नाखून ज्यादा दिखाई नहीं देते लेकिन इसका मतलब यह नहीं की आप इसकी परवाह न करे।

जब आप जूते खरीदे तो ध्यान दे की आपका पैर उसमे दबे न। मुड़े हुए पैर से नाखून दर्द कर सकते है।

रोजाना जुराबे बदले, इससे आपके पैर स्वस्थ रहते है। गन्दी जुराबे आपके पैर में इन्फेक्शन कर सकती है। बाहर जाते हुए नंगे पैर जाने के बजाये फ्लिप फ्लाॅप पहनकर जाए। नंगे पैर चलने से पैर के नाखूनों में इन्फेक्शन हो सकता है।

अपने नाखूनों को चेक करे। बच्चों के नाखून स्वस्थ होते है लेकिन उन्हें छोटी उम्र में नाखून चेक करने की अच्छी आदत डाले।

Like our Facebook Page