Travel: पहाड़ों की रानी ऊटी

नीलगिरी यानी नीली पहाड़ियों की गोद में बसा हरा-भरा पर्यटन स्थल ऊटी समुद्र तल से करीब 7,350 फुट की ऊंचाई पर बसा है। ऊटी को पहाड़ों की रानी कहा जाता है।

By Lotpot Kids
New Update
Ooty

पहाड़ों की रानी ऊटी

Travel पहाड़ों की रानी ऊटी:- नीलगिरी यानी नीली पहाड़ियों की गोद में बसा हरा-भरा पर्यटन स्थल ऊटी समुद्र तल से करीब 7,350 फुट की ऊंचाई पर बसा है। ऊटी को पहाड़ों की रानी कहा जाता है। इसका वास्तविक नाम उदगमंडलम है। इसके चारों ओर फैले प्रकृति के खूबसूरत नज़ारे, ऊंचे पहाड़ और आसमान को छूते देवदार व चीड़ के पेड़, साथ ही चाय बागानों की महक आपका मन मोह लेती है। ऊटी का तापमान हमेशा  5 से 25 डिग्री सेल्सियस रहता है। यानी यहां का मौसम हमेशा खुशगवार रहता है। (Travel)

ऊटी म्यूजियम

ooty museum

मैसूर रोड पर 1989 में बनाया गया ऊटी का म्यूजियम भी देखने लायक है। यहां आदिवासी वस्तुओं और कपड़ों को प्रदर्शित गया है, वहीं दुनिया भर में मशहूर तमिलनाडु की मूर्तिकला, चित्रकला, सैंडलवुड से बनी अनके वस्तुएं, मैसूर सिल्क और साउथ कॉटन के कपड़ों को भी दिखाया गया है। (Travel)

रोज़ गार्डन

rose garden Ooty

ऊटी का रोज़ गार्डन बहुत खूबसूरत है। इस गार्डन की स्थापना 1995 में की गई थी। यह 10 एकड़ में फैला हुआ है। रोज़ गार्डन में लगभग 200 प्रकार के गुलाब के फूलों का संग्रह है। इसे दक्षिण एशिया का सबसे उत्कृष्ट गार्डन माना जाता है। (Travel)

डोडाबेट्टा चोटी 

dodobeta hills Ooty

यह चोटी समुद्र तल से 2,623 मीटर ऊपर है। यह जिले की सबसे ऊंची चोटी मानी जाती है। यह चोटी ऊटी से केवल 10 किलोमीटर दूर है, इसलिए यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है। वहां से घाटी का नज़ारा अद्भुत दिखाई पड़ता है। (Travel)

कोटागिरी हिल

kotagiri hills Ooty

कोटागिरी हिल ऊटी से 28 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कोटागिरी हिल प्राकृतिक सुंदरता के लिए दर्शनीय स्थल है। यहां के चाय बागानों को देखने के लिए पर्यटक दूर-दूर से आते हैं। नीलगिरी के तीन हिल स्टेशनों में से यह सबसे पुराना है। यह ऊटी और कुन्नूर की तरह प्रसिद्ध नहीं है, लेकिन माना जाता है कि इन दोनों की अपेक्षा कोटागिरी का मौसम ज्यादा सुहावना होता है। (Travel)

टॉय ट्रेन

toy train Ooty

समुद्र तल से 7,440 फुट ऊपर स्थित हिल स्टेशन तक पहुंचने के लिए कुन्नूर से ट्रेन भी ली जा सकती है। ऊटी तक जाने वाली ट्रेन नीलगिरी माउंटेन रेलवे के नाम से भी जानी जाती है। छोटा साइज होने की वजह से इसे टॉय ट्रेन भी कहा जाता है। नीले रंग की वुडन बोगी और बड़ी-बड़ी खिड़कियां इसके सफर को और भी दिलकश बना देती है। (Travel)

lotpot-e-comics | travel-destinations-india | travel-places-in-india | travel Ooty | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | ट्रेवल ऊटी

यह भी पढ़ें:-

Travel: उगते सूरज की भूमि अरूणाचल प्रदेश

Travel: रणथंभौर का त्रिनेत्र गणेश मंदिर

Travel: द गिफ्ट ऑफ द जंगल कोडाईकनाल

Travel: भगवान श्री कृष्ण का शिक्षा स्थान गुरू सांदीपनि आश्रम