Positive News: डंक हीन मधुमक्खियों की दो नयी विलुप्त प्रजाति मिली

मीठे मीठे शहद का स्वाद किसे अच्छा नहीं लगता लेकिन क्या आपको पता है कि हम आम तौर पर जिस शहद का इस्तेमाल करते हैं वो उन मधुमक्खियों के छत्ते से हमें प्राप्त होता है जो डंक मारते हैं।

By Lotpot Kids
New Update
Stingless Honey bee

डंक हीन मधुमक्खियों की दो नयी विलुप्त प्रजाति मिली

Positive News डंक हीन मधुमक्खियों की दो नयी विलुप्त प्रजाति मिली:- मीठे मीठे शहद का स्वाद किसे अच्छा नहीं लगता लेकिन क्या आपको पता है कि हम आम तौर पर जिस शहद का इस्तेमाल करते हैं वो उन मधुमक्खियों के छत्ते से हमें प्राप्त होता है जो डंक मारते हैं लेकिन पेरु के अमाजॉन क्षेत्र और ईस्ट अफ्रीकी देशों में वहां के जनजातियों को बिना डंक वाले मधुमक्खियों से शहद मिलता है क्योंकि वहां इसी तरह की मधुमक्खियां मिलती है जिसे वहां के आदिवासी समुदाय अपने खेतों के आसपास पालते हैं। इन मधुमक्खियों को मेलीपोनीनए भी कहते हैं। (Positive News)

Stingless Honey bee

बिना डंक वाली मधुमक्खियों से उपजा शहद थोड़ा अलग होता है, खट्टे मीठे फलों की तरह। लेकिन गुणवत्ता में साधारण शहद से बहुत ज्यादा होता है। वहाँ के स्थानीय आदिवासी इस शहद को सिर्फ भोजन के रूप में ही इस्तमाल नहीं करते बल्कि हर तरह के कटने, जलने, इम्यून सिस्टम को दुरुस्त रखने और दमा के इलाज के लिए इस्तेमाल करते हैं और उसे बेचकर आजीविका भी चलाते हैं। (Positive News)

जब आधुनिक जगत को इस शहद के गुणों के बारे में जानकारी मिली तो वैज्ञानिकों की रुचि बढ़ी... (Positive News)

Stingless Honey bee

जब आधुनिक जगत को इस शहद के गुणों के बारे में जानकारी मिली तो वैज्ञानिकों की रुचि बढ़ी और इन डंकहीन मधुमक्खियों को जानने समझने के लिए पेरु के जनजातियों से मिलकर दोनों तरफ से होने वाले लाभ का हवाला देते हुए उन्हें आधुनिक तरीके से मधुमक्खी पालन के बारे में सिखाया।  इस प्रकार, पेरु वियन अमेज़न की जांच संस्थान में सीजर डेलगाडो वास्केज जैसे वैज्ञानिकों ने वहां की जनजातियों से मिलकर उन्हें नई नई तकनीकों से मधुमक्खियों का पालन करना सिखाया और उनसे उनकी परंपरागत तरीके सीखे। इस वर्ष शोधकर्ताओं की एक इंटरनेशनल टीम ने इस्ट अफ्रीका में ट्री रेसिंग और कोपल में छुपे इन्हीं डंक रहित मधुमक्खियों का अध्ययन किया। शोधकर्ताओं ने जिन 36 प्रजाति के बिना डंक वाली मधुमक्खियों का पता लगाया उसमें से दो एकदम नई प्रजातियों की मधुमक्खियाँ हैं, वहां के तटीय ट्री रेजिंग, और कोपल (जिसे डीफॉनेशन  रेजिंग भी कहा जाता है) के अंदर दबे पाए गए। शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि सम्भवतः ये प्रजाति अपनी खोज से पहले ही विलुप्त हो गए थे जिसमें से सबसे कम उम्र की प्रजाति 2015 से थी और सबसे पुरानी प्रजाति तीन हजार साल पुरानी थी। (Positive News)

lotpot-e-comics | hindi-positive-news | Stingless Honeybee | Honey Bee | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | डंक हीन मधुमक्खियां

यह भी पढ़ें:-

Positive News: रोबो दो घंटे की सर्जरी ढाई मिनट में कर देगा

Positive News: पर्यावरण के लिए पंछी संरक्षण भी जरूरी है

Positive News: पर्यावरण की रक्षा

अध्ययन : नियमित व्यायाम से स्कूली बच्चों में हो सकता तनाव कम