Bal Kavita: बगिया

By Lotpot Kids
New Update
Boy Maintaining his garden cartoon image

बगिया

बगिया

मेरे घर की बगिया प्यारी,
हो जैसे फूलों की क्यारी।

बड़े जतन से इसे लगाया,
पसीना भी खूब- बहाया।

तरह-तरह के पेड़ लगाये,
उन पर रस भरे फल आये।

प्रकृति ने मानों कालीन बिछाया,
हरी दूब का लॉन लगाया।

फूलों की क्या कहनी बात,
देते खुशबू की सौगात।

कहते सब जग से न्‍यारी,
मेरे घर की बगिया प्यारी।

lotpot-e-comics | hindi-bal-kavita | manoranjak-bal-kavita | hindi-kids-poem | kids rhymes | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | baal-kvitaa | hindii-baal-kvitaa

यह भी पढ़ें:- 

Bal Kavita: बहाना

Bal Kavita: चूहों की शैतानी

Bal Kavita: निराला पैसा

Bal Kavita: चन्दा मामा