Bal Kavita: मौनी बाबा

By Lotpot Kids
New Update
Tigers pride cartoon image

मौनी बाबा

मौनी बाबा 

शेरों की पंचायत थी,
पर बंदर जी ललचाए।

शेर की खाल ओढ़कर,
चुपचाप पंचायत में आए।

एक शेर ने बंदर जी को,
तुरत-फुरत में ताड़ा।

वह बोला तु शेर कौन सा,
जो अब तक नहीं दहाड़ा।

बंदर जी ने चालाकी से,
अपनी जान बचाई।

मै हूँ मौनी बाबा भाई,
लिखी तख्ती आगे बढ़ाई।

लोटपोट | बाल कविता | hindi kavita | लोटपोट इ-कॉमिक्स | lotpot E-Comics | हिंदी बाल कविता | Hindi Bal Kavita | हिंदी कविता

यह भी पढ़ें:-

Bal Kavita: जब चूहा बना हज्जाम

Bal Kavita: चूहों की शैतानी

Bal Kavita: रनों की बौछारें

Bal Kavita: चुहिया रानी