Bal Kavita: पेट

By Lotpot Kids
New Update
Jungle Animals in party Cartoon image lotpot e-comics

पेट

पेट

बन्दर मामा कि बारात में,
हाथी दादा आए।

देख इमरती, पूरी-कचौरी,
मन में वो हरषाये।

बड़े प्रेम से खाई उन्होंने,
मिठाई बंगाल वाली।

सारा माल हज़म कर गये,
हो गये बर्तन खाली।

देख कर खाली बर्तन-भाण्डे,
सभी लोग चकराए।

सुन पोजीशन अब्बा दुल्हन के,
रम्मू जी भागे आये।

सारा माल खत्म हो गया,
इज्जत पर बन आई।

रम्मू जी ने तुरन्त ही,
फिर से भट्टी तपवाई।

बच्चों की कविता | बाल कविता | हिंदी बाल कविता | लोटपोट इ-कॉमिक्स | लोटपोट | hindi poems for | entertaining kids poem | manoranjak bal kavita | Hindi Bal Kavita | lotpot E-Comics 

यह भी पढ़ें:-

Bal Kavita: प्यारी तितली

Bal Kavita: सुन-सुन-सुन

Bal Kavita: चुहिया रानी

Bal Kavita: दस रूपए की कुल्फी