Positive News: प्रौढ़ शिक्षा अभियान

अक्‍सर गरीबी और अज्ञानता के कारण बहुत से परिवार अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज पाते हैं और अपने घरेलू कमाई में योगदान देने के लिए उन्हे छोटे मोटे कामों में लगा देते हैं, परिणाम स्वरूप यह बच्चे जीवन भर अशिक्षित रह जाते हैं।

By Lotpot Kids
New Update
Aged Womens Taking Class Under GOI Campaign Praud Siksha

प्रौढ़ शिक्षा अभियान

Positive News प्रौढ़ शिक्षा अभियान:- अक्‍सर गरीबी और अज्ञानता के कारण बहुत से परिवार अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज पाते हैं और अपने घरेलू कमाई में योगदान देने के लिए उन्हे छोटे मोटे कामों में लगा देते हैं, परिणाम स्वरूप यह बच्चे जीवन भर अशिक्षित रह जाते हैं। उन लोगों के लिए भारत सरकार ने प्रौढ़ शिक्षा अभियान भी शुरू किया है। तो क्या है यह प्रौढ़ शिक्षा अभियान? (Positive News)

प्रौढ़ शिक्षा सरकार द्वारा शुरू किया गया एक विशेष कार्यक्रम है...

बचपन में अगर दुर्भाग्य से, किन्ही कारणों के चलते किसी को स्कूल, कॉलेज जाकर पढ़ने का सुअवसर नहीं मिला तो यह प्रौढ़ शिक्षा केंद्र उन्हे फिर से पढ़ने लिखने का मौका देती है। इस कार्यक्रम में, इन वयस्कों को पढ़ना और लिखना सिखाने के साथ साथ हिसाब करने जैसी बुनियादी चीजें भी सिखाई जाती हैं और साथ ही उन्हे उनके हुनर के हिसाब से नौकरियों के लिए भी तैयार किया जाता है। शिक्षा हर इंसान को अधिक आत्मविश्वासी बनने में मदद करती है और उन्हें बेहतर भविष्य बनाने का मौका देती है। पढ़ लिखकर इंसान अपने जीवन में आगे बढ़ने का रास्ता चुन कर अपने सपनों को साकार कर सकते हैं। कुछ लोगों के मन में यह प्रश्न उठता होगा कि बड़ी उम्र में शिक्षा ग्रहण करके क्या लाभ? तो आपको बता दूँ कि किसी भी उम्र में पढ़ाई करने के बहुत से फायदे हैं। शिक्षा प्रत्येक व्यक्ति को बेहतर नौकरियाँ पाने में मदद करती है, इससे वे अपने परिवार की बेहतर तरीके से देखभाल कर सकते हैं। (Positive News)

शिक्षा, इंसान को समाज के विभिन्न मुद्दों के बारे में जानने और अधिक जागरूक होने में सहायता करती है। कई बार रोजगार के बिना लोग बुरे काम और बुरी संगत में फंस जाते हैं। शिक्षा इन समस्याओं को कम कर सकती है, जिससे एक सुरक्षित समाज का निर्माण हो सकता है। (Positive News)

Earth Kept on Book Named Education

शिक्षा एक महान देश बनाने की दिशा में पहला कदम है। जब सभी को शिक्षा पाने की सुविधा मिलती है, तो हमारा राष्ट्र मजबूत और अधिक प्रगतिशील हो जाता है।

भारत में सरकार ने प्रौढ़ शिक्षा निदेशालय नामक एक विशेष विभाग शुरू किया है। इसकी शुरुआत 1956 में उन वयस्कों की मदद के लिए की गई थी जो अशिक्षित थे। उन्हे सीखने का मौका देने के लिए कई अलग-अलग स्कूल और कक्षाएं बनाई गईं। इनमें से कुछ कक्षाएं लोगों को उनकी सुविधानुसार रात में भी रखी जाती हैं।
वयस्क शिक्षा एक विशेष कार्यक्रम है जो वयस्कों को सीखने और अपने जीवन को बेहतर बनाने का मौका देता है। (Positive News)

lotpot-e-comics | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | ponjittiv-nyuuz | GOI Education Campaign 

यह भी पढ़ें:- 

Positive News: भारत तथा एशिया का सबसे बड़ा सीवेज प्लांट

Positive News: मिट्टी से बनाए जाने वाले उत्पाद

Positive News: कर्तव्य पथ की शान नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा

"आज, बच्चे अपने माता-पिता की ताकत बन गए हैं"– यह कहना है  ‘तेरा यार हूं मैं’ के सुदीप साहिर का