Travel: भारत की आकर्षक बावड़ियां

पुराने समय में सीढ़ीदार कुएं को बावड़ियां कहा जाता था। इन्हें भारत पर राज करने वाले राजाओं ने बनवाया था। राजाओं में कुछ बावड़ियों का निर्माण रानियों के लिए और कुछ बावड़ियों का निर्माण प्रजा के लिए किया था।

By Lotpot Kids
New Update
Baav

भारत की आकर्षक बावड़ियां

Travel भारत की आकर्षक बावड़ियां:- पुराने समय में सीढ़ीदार कुएं को बावड़ियां कहा जाता था। इन्हें भारत पर राज करने वाले राजाओं ने बनवाया था। राजाओं में कुछ बावड़ियों का निर्माण रानियों के लिए और कुछ बावड़ियों का निर्माण प्रजा के लिए किया था। पुराने समय की यह बावड़ियां देखने में बहुत ही सुन्दर और आकर्षक होती हैं। इसलिए आज हम आपको इन बावड़ियों के बारे में बताएंगे जो भारत के अलग-अलग राज्यों में बनाई गई थीं। (Travel)

तो आइए जानते हैं कुछ ख़ास बावड़ियों के बारे में:-

चांद बाओरी, राजस्थान:

राजस्थान में बनी चांद बाओरी दुनिया की सबसे पुरानी और आकर्षक स्टेपवेल है। इसमें 3,500 पतली-पतली सीढ़ियां बनी हुई हैं। (Travel)

रानी का कुआं, गुजरात:

baav

गुजरात के पाटन शहर में एक रानी का कुआं हैं। इस कुएं में बनी कलाकारों की कलाकारी देखने लायक हैं। इसे यूनेस्को वल्र्ड हेरिटेज साइट में भी शामिल किया गया है। (Travel)

रानी जी की बाओली, राजस्थान:

baav

यह कुआं राजस्थान में बना है। इस 46 मीटर गहरे कुएं में पूजा करने के लिए फ्लोर बनाए गए हैं। इसके चारों तरफ पिलर और बड़े गेट लगे हैं। (Travel)

अग्रसेन की बाओली, दिल्ली:

baav

दिल्ली में बना यह 60 मीटर लंबा और 15 मीटर चैड़ा कुआं कनाॅट प्लेस के पास है। इस कुएं का सर्वेक्षण (भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण) द्वारा किया जाता है। (Travel)

इमामबाड़ा कुआं, लखनऊ:

baav

यह कुआं लखनऊ में बनी सबसे बड़ी इमारत इमामबाड़ा में बना है। यहां पर देखने के लिए इस कुएं के इलावा अस्फी मस्जिद और भूलभूलैया हैं। (Travel)

मोढेरा कुआं:

baav

ज्योमेट्रिक स्टाइल में बने इस कुएं में सबसे बड़ा पानी का टैंक है। इसे पुष्पावती नदी के किनारे एक मंदिर में बनाया हुआ है। इसकी देखभाल भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के पर्यवेक्षण के अंतर्गत आती है। (Travel)

lotpot-e-comics | travel-places-in-india | travel-destinations-india | travel-destinations | Attractive Stepwells of India | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | ट्रेवल

यह भी पढ़ें:-

Travel: तीन हजार टन पत्थरों से निर्मित अक्षरधाम मंदिर

Travel: वैष्णवों का विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है गोवर्धन

Travel: भारत का एक छिपा हुआ आश्चर्य है लक्षद्वीप

Travel: पूर्वोत्तर का एक जीवंत और गतिशील स्वर्ग है गंगटोक