Travel: हिमालय की रानी दार्जिलिंग

दार्जिलिंग यह एक छोटी रेलवे सेवा जो पर्वतों से होकर गुजरती है। इस सफर में आप विहंगम प्राकृतिक दृश्यों का लुत्फ उठा सकते हैं। दरअसल दार्जिलिंग पश्चिम बंगाल में स्थित एक हिल स्टेशन है और आप यहां बर्फ से ढकी चोटियां देख सकते हैं।

By Lotpot Kids
New Update
darjeeling arial view

हिमालय की रानी दार्जिलिंग

Travel हिमालय की रानी दार्जिलिंग:- दार्जिलिंग यह एक छोटी रेलवे सेवा जो पर्वतों से होकर गुजरती है। इस सफर में आप विहंगम प्राकृतिक दृश्यों का लुत्फ उठा सकते हैं। दरअसल दार्जिलिंग पश्चिम बंगाल में स्थित एक हिल स्टेशन है और आप यहां बर्फ से ढकी चोटियां देख सकते हैं। देखा जाए तो लघु हिमालय यानी महाभारत पर्वत श्रृंखला में बसा दार्जिलिंग वास्तव में स्वर्ग सरीखा है। दार्जिलिंग को 'हिमालय की रानी' के नाम से भी जाना जाता है। (Travel)

darjeeling train

दार्जिलिंग शहर ब्रिटिश शासनकाल से ही पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता रहा है। साथ ही यहां के विशाल चाय बागान और गुणवत्तापूर्ण चाय की लोकप्रियता पूरे विश्व में है। वास्तव में दार्जिलिंग से विभिन्न प्रकार के चाय और विभिन्न गुणवत्ता वाले चाय का बड़े पैमाने पर निर्यात किया जाता है। (Travel)

darjeeling tea estate

दार्जिलिंग में आप अल्पाइन और साल व ओक के पेड़ों से लैस समशीतोष्ण जंगलों को देख सकते हैं। मौसम में परिवर्तन के बावजूद दार्जिलिंग के जंगल हरे भरे हैं, जिससे पर्यटन को नया आयाम मिलता है। शहर में कुछ प्राकृतिक पार्क भी हैं। इनमें से पड़माजा नायडू हिमालियन जूलॉ जिकल पार्क और लाॅयड बॉटनिकल गार्डन प्रमुख हैं। शाम के समय में आपको इन जगहों पर बड़ी संख्या में प्रकृति प्रेमी और फोटोग्राफर देखने को मिल जाएंगे। 

दार्जिलिंग कई किस्म के आर्किड के लिए भी जाना जाता है। दार्जिलिंग के मौसम को...

दार्जिलिंग कई किस्म के आर्किड के लिए भी जाना जाता है। दार्जिलिंग के मौसम को मुख्य तौर पर गर्मी, बरसात और ठंड में बांटा जा सकता है। गर्मी का मौसम जहां सामान्य होता है, वहीं यहां कड़ाके की ठंड पड़ती है। ट्रेकिंग का शौक रखते हैं तो एक बार आप संदकफू हो आईए, यह ट्रेकिंग के लिए आदर्श जगह है संदकफू सिंगालिला श्रृंखलाओं की सबसे उंची चोटी है। संदकफू का मतलब होता है हाइट ऑफ द पाइजन प्लांट। यहाँ चोटी के आसपास जेहरीले एकोनाईट के पौधे पाए जाते हैं। (Travel)

sankaphu darjeeling

इसकी ऊंचाई समुंद्र ताल से करीब 3636 मीटर है। संदकफू सिंगालीला राष्ट्रीय पार्क के दायरे में आता है। ऊंचाई की वजह से यहाँ का मौसम आमतौर पर काफी सर्द होता है। सर्दियों में बर्फ भी खूब गिरती है। खास कर यहाँ से कंचनजंघा की चोटियों का नज़ारा तो देखते ही बनता है। जब मौसम साफ हो तो बर्फीली चोटियों पर पड़ने वाली सूरज की लाल किरणों को निहारने पर्यटक खिचें आते हैं। (Travel)

sunrise in darjeeling

दार्जलिंग मनयभजन से संदकफू 31 किलोमीटर है। इस रास्ते पर ट्रेकिंग ज्यादा मुश्किल भी नहीं है। संदकफू जाने का सफर मनयभजन से शुरू होता है। यहाँ का नज़दीकी रेलवे स्टेशन न्यूजलपाईगुड़ी और हवाईअड्डा सिलीगुड़ी के पास बागडोगरा है।

दार्जिलिंग में पर्यटकों के लिए काफी कुछ है। इनमें से हैप्पी वैली टी एस्टेट, लाॅयड बाॅटनिकल गार्डन, दार्जिलिंग हिमालियन रेलवे, बतासिया लूप व युद्ध स्मारक, केबल कार, भूटिया बस्टी गोंपा और हिमालियन माउंटेनीरिंग इंस्टीट्यूट और म्यूजियम प्रमुख हैं। दार्जिलिंग पश्चिम बंगाल के प्रमुख हिस्सों से अच्छे से जुड़ा हुआ है। एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल होने के कारण यहां पहुंचना कोई मुश्किल काम नहीं है।यहां के स्थानीय व्यंजन का लुत्फ उठाना एक यादगार अनुभव साबित हो सकता है। मोमोज (एक तरह की पकौड़ी) की इस क्षेत्र में खासी लोकप्रियता है। (Travel)

lotpot-e-comics | travel-destinations-india | travel-places-in-india | west-bengal-tourism | west bengal tourist destination | tourist places of west bengal | Queen of Himalayas | Darjeeling | लोटपोट | lottpott-i-konmiks

यह भी पढ़ें:-

Travel: दीमापुर की भीम की गोटी

Travel: देवभूमि हिमाचल प्रदेश

Travel: अनदेखे अनंत की भूमि लद्दाख

Travel: भारत का स्कॉटलैंड कहा जाता है कुर्ग