Travel: देवभूमि हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश, भारत के उत्तर में स्थित राज्य है जो अपनी खूबसूरती, प्रकृति और शांत वातावरण के कारण हर साल पूरी दुनिया के लाखों पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करता है।

By Lotpot Kids
New Update
Himachal Pradesh

देवभूमि हिमाचल प्रदेश

Travel देवभूमि हिमाचल प्रदेश:- हिमाचल प्रदेश पश्चिमी हिमालय में प्राकृतिक वैभव का एक क्षेत्र है, जो ऊँचे बर्फ से ढके पहाड़ों, गहरी घाटियों, घने जंगलों वाली घाटियों, बड़ी झीलों, सीढ़ीदार खेतों और झरने वाली नदियों का बहुरंगी प्रदर्शन पेश करता है। दरअसल, राज्य का नाम इसकी सेटिंग का संदर्भ है: हिमाचल का अर्थ है "बर्फीली ढलान" (संस्कृत: हिमा, "बर्फ"), और प्रदेश का अर्थ है "राज्य।" (Travel)

शिमला शहर स्वतंत्रता से पूर्व ब्रिटिश वायसराय का ग्रीष्मकालीन मुख्यालय था; यह अब राज्य की राजधानी है और, लगभग 7,100 फीट (2,200 मीटर) की ऊंचाई पर, देश के सबसे बड़े और सबसे लोकप्रिय पर्वत रिसॉर्ट्स में से एक है। (Travel)

Himachal Pradesh

हिमाचल प्रदेश, भारत के उत्तर में स्थित राज्य है जो अपनी खूबसूरती, प्रकृति और शांत वातावरण के कारण...

हिमाचल प्रदेश, भारत के उत्तर में स्थित राज्य है जो अपनी खूबसूरती, प्रकृति और शांत वातावरण के कारण हर साल पूरी दुनिया के लाखों पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करता है। यहाँ पर्यटन तेजी से बढ़ रहे उद्योगों में से एक है, और यही कारण है कि प्रतिवर्ष राज्य की आय में भी भारी इज़ाफा हो रहा है। राज्य के पर्यटन में आये तेज़ उछाल के चलते यहां बीते कुछ वर्षों में होटल और रेसॉर्ट में बढोत्तरी हुई है जो राज्य की प्रगति और विकास के लिए एक अच्छा संकेत है। (Travel)

Himachal Pradesh

भौगोलिक दृष्टि से हिमाचल प्रदेश के पूर्व में तिब्बत, पश्चिम में पंजाब, और उत्तर में जम्मू और कश्मीर जैसे राज्यों से घिरा हुआ है। मुख्य रूप से देवभूमि या देवताओं की भूमि के नाम से लोकप्रिय ये राज्य आने वाले पर्यटकों के लिए स्वर्ग है यहां की हरियाली, बर्फ से ढकी हुई चोटियां, बर्फीले ग्लेशियर मनमोहक झीलें आने वाले किसी भी पर्यटक का मन मोहने के लिए काफी है। (Travel)

हिमाचल के पर्यटन विभाग ने राज्य को 4 जिला सर्किट में बाँट दिया है जो इस प्रकार है सतलुज सर्किट, बीस सर्किट, धौलाधार सर्किट, ट्राइबल सर्किट, यहां मनाली और कुल्लू जैसे विश्व प्रसिद्ध पर्यटन केन्द्रों के बीच बीस नदी बहती है। जिस कारण यहां आने वाले पर्यटकों को पाइन और देओदार के शांत वनों को देखने का आनंद मिलता है जो प्रकृति से प्रेम करने वाले भी पर्यटक का मन मोह सकते है। यहां आने वाले पर्यटक अल्पाइन क्षेत्रों, चट्टानी ढालों, रंग बिरंगे फूलों और बगीचों से सुसज्जित चारागाहों का भी आनंद ले सकते हैं। जबकि यहां के ट्राइबल सर्किट में बर्फीली चोटियाँ, ग्लेशियर, जमी झीलें दर्रे, सुन्दर मठ, लामा और याक हैं। समृद्ध सांस्कृतिक परंपराओं के रूप में चिन्हित, यह क्षेत्र लुभावनी साहसिक गतिविधियों के लिए हमेशा ही एक हॉटस्पॉट रहा है। (Travel)

Himachal Pradesh

सिवालिक क्षेत्र में गर्म ग्रीष्मकाल (मार्च से जून) होता है, जिसमें तापमान 100 डिग्री फ़ारेनहाइट (38 डिग्री सेल्सियस) से ऊपर बढ़ जाता है, ठंडी और शुष्क सर्दियाँ (अक्टूबर से फरवरी) और गीला मौसम (जुलाई से सितंबर) होता है, जिसमें बारिश होती है। जैसे-जैसे उत्तर की ओर ऊँचाई बढ़ती है, जलवायु आर्द्र और ठंडी होती जाती है। महान हिमालय में, सर्दियाँ अत्यधिक ठंडी और बर्फीली होती हैं, तापमान 0 °F (-18 °C) से नीचे चला जाता है। (Travel)

Himachal Pradesh

lotpot-e-comics | travel-destinations-india | travel-places-in-india | Himachal pradesh tourism | Travel himachal | Himachal Pradesh Guide | लोटपोट | lottpott-i-konmiks | ट्रेवल हिमाचल प्रदेश

यह भी पढ़ें:-

Travel: नई-पुरानी संस्कृति के संगम के रूप में उभरता हैदराबाद

Travel: स्वर्ण मंदिर

Travel: अनदेखे अनंत की भूमि लद्दाख

Travel: 572 छोटे बड़े द्वीपों से मिलकर बना है अण्डमान और निकोबार