Health: ध्वनि प्रदूषण

ध्वनि प्रदूषण तब होता है जब अवांछित ध्वनियाँ वातावरण में प्रवेश करती हैं। ध्वनि प्रदूषण के संभावित स्वास्थ्य प्रभावों में तनाव के स्तर में वृद्धि, नींद में खलल, या सुनने की क्षति शामिल है। शोर लगभग हमेशा हमारे आसपास रहता है।

By Lotpot Kids
New Update
Noise pollution

ध्वनि प्रदूषण

Health ध्वनि प्रदूषण:- ध्वनि प्रदूषण तब होता है जब अवांछित ध्वनियाँ वातावरण में प्रवेश करती हैं। ध्वनि प्रदूषण के संभावित स्वास्थ्य प्रभावों में तनाव के स्तर में वृद्धि, नींद में खलल, या सुनने की क्षति शामिल है। शोर लगभग हमेशा हमारे आसपास रहता है, चाहे वह प्राकृतिक हो, जैसे पक्षियों का गाना, या मानवीय गतिविधि, जैसे वाहन यातायात। हालाँकि, शोर का निर्माण मनुष्यों और जानवरों की भलाई पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है। अन्य प्रकार के प्रदूषण की तुलना में, लोग अक्सर ध्वनि प्रदूषण को नजरअंदाज कर देते हैं। मस्तिष्क हमेशा खतरे के संकेतों के लिए ध्वनियों की निगरानी करता रहता है, यहां तक कि नींद के दौरान भी। परिणामस्वरूप, बार-बार या तेज़ शोर चिंता या तनाव पैदा कर सकता है। (Health)

Traffic sound pollution

आइए जानते हैं ध्वनि प्रदूषण से जुड़े कुछ रोचक तथ्य:-

1) ज़्यादा तेज़ आवाज़ से सुनने की क्षमता पर असर पड़ता है। (Health)

2) अगर आप सारा समय तेज़ आवाज़ के वातावरण में रहते हैं तो इससे सुनने की क्षमता खत्म हो जाती है।

Speakers

3) एक इंसान जो 80 डीबी (Decibel) से ज़्यादा आवाज़ का सामना करता है उसे अपनी सुनने की क्षमता को ठीक रखने के लिए कुछ ऐहतियात बरतने चाहिए।

4) आठ घंटे के लिए 90 डीबी (Decibel) की आवाज़ को सुनना सुरक्षित है। (Health)

5) चार घंटे से ज़्यादा 95 डीबी (Decibel) की आवाज़ सुनना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

6) दो घंटे से ज़्यादा 100 डीबी (Decibel) की आवाज़ सुनना बहुत हानिकारक होता है। (Health)

7) तेज़ आवाज़ से आपके सुनने की क्षमता खराब और कानों में दर्द हो सकता है।

8) तेज़ आवाज़ से बचने के लिए कानों को हाथों से ढक लेना चाहिए। (Health)

Man closing his ears due to noise pollution

9) अगर आप तेज़ आवाज़ के बीच में हैं तो आपको कानों में ईयरप्लग लगा लेने चाहिए। (Health)

10) आपको टीवी की आवाज़ 50 प्रतिशत से ज़्यादा इस्तेमाल नहीं करनी चाहिए।

11) एमपी3 की आवाज़ 50 प्रतिशत से ज़्यादा नहीं होनी चाहिए अगर आपने उसकी लीड कानों में लगाई है। (Health)

12) जिन लोगों को सुनने की समस्या है उन्हें तेज़ आवाज़ वाले वातावरण में ईयरप्लग या अपने हाथों से कान को ढकना चाहिए।

13) तेज़ ध्वनि प्रदूषण से ब्लड प्रेशर बढ़ता है। (Health)

lotpot | lotpot-e-comics | Noise Pollution | Facts about Noise Pollution | Sound Pollution | lottpott-i-konmiks | health-knowledge | लोटपोट | स्वास्थ्य जानकारी

यह भी पढ़ें:-

Health: कोशिकाओं के निर्माण के लिए आवश्यक है कोलेस्ट्रॉल

Health: खाना बनाने में सुरक्षा

Health: परिस्थितियां जो माइग्रेन को ट्रिगर करती हैं

Fun Facts: सेहत के लिए खास जूस