बच्चों की हिंदी कविता: गप्पी चूहा

By Lotpot
New Update
Cartoon image of mouse with cricket bat in hand

गप्पी चूहा

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

गप्पी चूहा

पड़ा कहीं पर पाया,
गप्पी चूहे ने इक बल्‍ला।

लेकर उसको जोर-जोर से,
लगा मचाने हल्ला।

बोला-सर्वप्रथम दुनिया में,
मैंने क्रिकेट चलाई।

कपिल देव, गावस्कर सबने,
मुझसे ट्रेनिंग पाई।

पूजनीय हूं मैं सब कोई,
मुझ पर फूल चढाए।

मीठे-मीठे रसगुल्ले ला,
मुझको यहां खिलाएं।

चुहिया बोली-बंद करो जी,
ये गप्पों का बाजा।

लाई है बिल्ली रसगुल्ले,
आगे बढ़कर खा जा।

नाम सुना बिल्ली का,
चूहे जी इतना घबराए।

बल्‍ला छोड़ वहीं घुसे जा,
बिल में पूंछ दबाए।

lotpot | lotpot E-Comics | bachchon ki bal kavita | Bal Kavitayen | hindi bal kavitayen | Hindi Bal Kavita | manoranjak bal kavita | bal kavita | bachchon ki hindi kavita | hindi kavitayen | hindi kavita | kids hindi poems | kids hindi poem | hindi poem for kids | kids poems in hindi | kids poems | kids poem in hindi | entertaining kids poem | kids poem | kids hindi rhymes | Hindi Rhymes for kids | hindi rhymes | लोटपोट | लोटपोट ई-कॉमिक्स | हिंदी बाल कवितायें | बाल कवितायें | हिंदी बाल कविता | बाल कविता | हिंदी कविता | हिंदी कवितायें | बच्चों की हिंदी कवितायें | बच्चों की हिंदी कविता | मनोरंजक बाल कविता | बच्चों की कवितायें | बच्चों की कविता 

यह भी पढ़ें:-

बच्चों की हिंदी कविता: मई का महीना

Bal Kavita: जंगल राज हमारा

Bal Kavita: देहरादून

Bal Kavita: सबकी करो मदद